NDTV Khabar

क्या दिल्ली के पुराने किले में दफन है पांडवों की राजधानी इंद्रप्रस्थ, खुदाई में मिली कई चीजें

2300 साल पुराने कई खिलौने मिट्टी के बर्तन और यहां मिले सिक्के संकेत देते है कि पांडवों की राजधानी इंद्रप्रस्थ की नींव इसी प्राचीन किले के भीतर पड़ी थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या दिल्ली के पुराने किले में दफन है पांडवों की राजधानी इंद्रप्रस्थ, खुदाई में मिली कई चीजें

पुरातत्व विभाग दिल्ली के पुराने किले में कर रहा है खुदाई

नई दिल्ली: दिल्ली के पुराने किले में चल रही पुरातात्विक खुदाई के दौरान कई प्राचीन सभ्यताओं के अवशेष मिले हैं. जिससे इस बात को बल मिला है ये किला प्राचीनकाल में कभी पांडवों की राजधानी इंद्रप्रस्थ रही होगी. कुषाणकालीन सिक्के यहां से मिले हैं. ये सभी तांबे के सिक्के हैं. जिसपर हाथी बने हैं. हालांकि अभी पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता है कि ये किस काल के हैं. लेकिन अभी तक की खुदाई से पता चला है कि दिल्ली के इस पुराने किले के भीतर कई सभ्यताएं दफन हैं. किले के भीतर दस मीटर तक की पुरातात्विक खुदाई के दौरान मौर्यकाल, कुषाणकाल, गुप्त काल से लेकर मुगलकाल तक की सभ्यताओं के कई अवशेष मिलते हैं. जिससे पता चलता है कि प्रागैतिहासिक काल से लेकर आधुनिक काल तक की सभ्यताएं यहां बसती रही हैं.
asi


टिप्पणियां
पुरातत्व विभाग का नोटिस : सहारनपुर जेल खाली करो! कहा- ऐतिहासिक धरोहर है...
 
2300 साल पुराने कई खिलौने मिट्टी के बर्तन और यहां मिले सिक्के संकेत देते है कि पांडवों की राजधानी इंद्रप्रस्थ की नींव इसी प्राचीन किले के भीतर पड़ी थी. जिसका उल्लेख पुरातत्व विभाग के इस बोर्ड में भी है. इस प्रोजेक्ट के इंचार्ज बसंत स्वर्णकार का कहना है कि सबसे पहले यहां कौन लोग आकर बसे थे, यह जानकारी गहराई से खुदाई होने के बाद ही पता चला पाएगा. फिलहाल हमें मौर्यकालीन कई अवशेष मिले हैं. पुरातत्व विभाग ने पुराने किले की खुदाई 1954 में शुरु की थी. अभी हाल में चौथे चरण की खुदाई शुरू हुई है. 
asi


वीडियो : मिली दीवान-ए-खास की छत

खुदाई के दौरान यहां एक मौर्यकालीन कुआं भी मिला है. इसे मिट्टी के रिंग बनाकर बनाया गया है. ये एक महत्वपूर्ण खोज है.इस बार पुरातत्व विभाग की कोशिश है कि गहराई से खुदाई करके प्रागैतिहासिक काल की सभ्यता के और प्रमाण जुटाए जाएं..


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement