दिल्ली से नोएडा जोड़ने वाले रास्ते DND पर जाने पर लग सकता है जाम, किसानों का प्रदर्शन जारी

मोदी सरकार ने बजट में किसानों को सौगातें देखकर रिझाने की कोशिश की लेकिन किसानों का गुस्सा अभी भी शांत नहीं हुआ है.

दिल्ली से नोएडा जोड़ने वाले रास्ते DND पर जाने पर लग सकता है जाम, किसानों का प्रदर्शन जारी

DND पर प्रदर्शन करते किसान

खास बातें

  • डीएनडी पर किसानों का प्रदर्शन
  • भूमि अधिग्रहण में चार गुना मुआवजे की मांग
  • पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था
नई दिल्ली:

मोदी सरकार ने बजट में किसानों को सौगातें देखकर रिझाने की कोशिश की लेकिन किसानों का गुस्सा अभी भी शांत नहीं हुआ है. जमीन अधिग्रहण में उचित मुआवजे की मांग को लेकर नाराज किसान दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री आवास को घेरने की चेतावनी दे रहे हैं. टप्पल के आक्रोशित किसान अपनी मांगों के साथ भारी संख्या में डीएनडी पहुंच गए हैं और उसे घेर लिया है. फिलहाल यह प्रदर्शन डीएनडी के किनारे हो रहा है. नाराज किसानों का कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती हैं, तब तक वह अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे. किसानों के आंदोलन को देखते गुए पुलिस ने सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की है. 

जब-जब जिस पार्टी ने किया किसानों की कर्ज माफी का किया वादा, उसने मारी चुनाव में बाजी!

इसके अलावा मंडोला के किसान भी दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने 7 फरवरी तक प्रदर्शन जारी रखने की चेतावनी दी है. शुक्रवार को मंडोला और टप्पल के किसानों के प्रदर्शन की वजह से दिल्ली और नोएडा की रफ्तार थम गई थी. प्रदर्शन की वजह से डीएनडी पर घंटों लंबा जाम लगा रहा था. सहायक पुलिस अधीक्षक डॉक्टर कौस्तुभ ने बताया कि अलीगढ़, आगरा, हाथरस, बुलंदशहर गौतम बुद्ध नगर आदि जगहों के किसान प्रधानमंत्री आवास का घेराव करने के लिए डीएनडी के रास्ते दिल्ली पहुंच रहे हैं. शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने उन्हें डीएनडी पर रोक दिया जिससे दिल्ली व नोएडा में जगह-जगह जाम लग गया था. शुक्रवार की शाम को दिल्ली-नोएडा फ्लाईवे पर किसानों ने जाम लगा दिया. उन्होंने बताया कि इस दौरान किसानों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई. किसानों की मांग है कि सरकार 2013 में पारित भूमि अधिग्रहण विधेयक के तहत भूमि ले. 

आंदोलनकारी किसानों ने कहा- राहुल गांधी ने वादे किए, समय आने पर हिसाब लेंगे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि पिछले 50 महीनों से टप्पल के किसान मुआवजे की मांग को लेकर लड़ाई लड़ रहे हैं. इन किसानों की जमीन, बसपा सरकार ने यमुना एक्सप्रेस-वे निर्माण के दौरान अधिग्रहित की थी. इसके बाद किसानों ने आंदोलन चलाया था. इस आंदोलन के दौरान तीन किसानों और एक पुलिसकर्मी की मौत भी हो गई थी. करीब 50 महीने से चल रहे इस आंदोलन की खबर लेने कोई नहीं पहुंचा तो किसान शुक्रवार को पीएम आवास घेरने पहुंच गए. 

आंदोलन में बड़ी संख्या में युवा किसान शामिल