NDTV Khabar

सरकार ने जीएसटी के जरिये देश को आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर लाने का मौका गंवाया : रणदीप सुरजेवाला

सुरजेवाला ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘जीएसटी को ‘पूरी तरह से डरावना कर’ नहीं होना चाहिये बल्कि यह एक ‘अच्छा और सरल कर’ होना चाहिये.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सरकार ने जीएसटी के जरिये देश को आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर लाने का मौका गंवाया : रणदीप सुरजेवाला

रणदीप सुरजेवाला (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि घबराई हुई मोदी सरकार अपने फौरी फैसलों से अपने ही जाल में उलझती नजर आ रही है. कांग्रेस ने शनिवार को केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को माल एवं सेवाकर (जीएसटी) व्यवस्था को कथित तौर पर ठीक से लागू नहीं करने पर आड़े हाथों लिया. पार्टी ने कहा कि जीएसटी के जरिये देश को आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर लाने का मौका सरकार ने गंवा दिया. पार्टी के अनुसार जीएसटी ‘बेहतर और सरल कर’ होना चाहिये न कि यह ‘पूरी तरह से डरावना कर’ होना चाहिये. कांग्रेस की मीडिया एवं संचार विभाग के प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा देश में जीएसटी आम आदमी और किसानों तथा कपड़ा क्षेत्र को कोई भी राहत पहुंचाने में नाकाम रहा है. ये क्षेत्र देश में सबसे बड़े रोजगार प्रदाता हैं.

सुरजेवाला ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘जीएसटी को ‘पूरी तरह से डरावना कर’ नहीं होना चाहिये बल्कि यह एक ‘अच्छा और सरल कर’ होना चाहिये. सुरजेवाला ने सरकार पर ‘अनाड़ी और अदूरदर्शी’ होने का आरोप लगाया जो कि ‘पूरी तरह से घमंड में चूर है.’ उन्होंने कहा कि इस सरकार ने ‘अकुशलता और मुद्दों की पूरी समझ नहीं होने’ के चलते देश को तीव्र वृद्धि के रास्ते पर लाने का सुनहरा मौका गंवा दिया.

यह भी पढ़ें : मोदी के समर्थन में उतरे योगगुरु रामदेव, लोगों से की समर्थन देने की अपील

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह सच्चाई है कि भारत की जीएसटी दर दुनिया में आज सबसे ऊंची है और इसके जरिये ‘एक देश, एक कर’ का जो सपना था वह आज ‘एक देश, सात कर’ बन कर रह गया है. सुरजेवाला ने सवाल किया, लोगों को जो राहत मिलनी चाहिये थी वह कहां है? उन्होंने कहा लोगों को वास्तविकता चाहिये, खुश करने वाले शब्द नहीं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरुण जेटली आम आदमी को राहत पहुंचाने की बात भूल चुके हैं. वह सबसे ज्यादा रोजगार उपलब्ध कराने वाले दो क्षेत्रों कृषि और कपड़ा क्षेत्र को राहत नहीं पहुंचा पाए हैं. ये दोनों ही क्षेत्र इस समय गंभीर संकट में हैं.

सुरजेवाला ने कहा कि घबराई हुई मोदी सरकार अपने फौरी फैसलों से अपने ही जाल में उलझती नजर आ रही है और उसने अपनी अकुशलता के चलते बेहतर अवसर गंवा दिया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी से जो ‘भारी नुकसान’ हुआ था उसके बाद जीएसटी जैसे महत्वपूर्ण कर सुधार को लागू करने के जरिये देश के सकल घरेलू उत्पाद में संभावित दो प्रतिशत वृद्धि को जो ‘अच्छा मौका’ मिला था सरकार ने अपनी अयोग्यता के चलते उसे ‘आपदा’ में बदल दिया.

VIDEO : क्या जीएसटी की समस्याओं का हल निकाल लिया गया है?​


सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस की संप्रग सरकार ने जिस जीएसटी विधेयक को पेश किया था उसका मकसद और दिशा देश में एक एकल, पारदर्शी और सरल कर व्यवस्था को लागू करना था जिससे की दाम में कमी आये.

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement