NDTV Khabar

दिल्‍ली के प्रदूषण पर बोले हर्षवर्धन, वातावरण बेहतर हुआ है तो आरोप लगाना बंद करें केजरीवाल

दिल्‍ली में वायु प्रदूषण को केन्‍द्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा है कि पहले से हालात बेहतर हुए है और पिछले 24 घंटे का डाटा देखा है एयर क्वालिटी बेहतर हुई है. पीएम 2.5 और पीएम 10 का लेवल लगातार नीचे की ओर जा रहा है.

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्‍ली के प्रदूषण पर बोले हर्षवर्धन, वातावरण बेहतर हुआ है तो आरोप लगाना बंद करें केजरीवाल

केन्‍द्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पीएम 2.5 और पीएम 10 का लेवल नीचे गया
  2. 14-15 को बारिश होने की संभावना है
  3. केजरीवाल अपना बेसिक काम करें जैसे पानी से छिड़काव
नई दिल्‍ली: दिल्‍ली में वायु प्रदूषण को केन्‍द्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा है कि पहले से हालात बेहतर हुए है और पिछले 24 घंटे का डाटा देखा है एयर क्वालिटी बेहतर हुई है. पीएम 2.5 और पीएम 10 का लेवल लगातार नीचे की ओर जा रहा है. 
दो दिनों मे हवा का डायरेक्शन ठीक होगा और 14-15 को बारिश होने की संभावना है. 

दिल्‍ली के मंत्री गोपाल राय बोले, ऑड-ईवन के लिए सरकार तैयार, बस कोर्ट के फैसले का इंतजार

डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कहा है कि दिल्‍ली का वातावरण बेहतर हुआ है और अच्छा होगा कि वह आरोप लगाना बंद करे. उन्‍होंने कहा है कि वह अपना बेसिक काम करे जैसे पानी से छिड़काव करें. हम तो लगातार मॉनिटर कर रहे है और दो महीनों मे चार मीटिंग हुई है, जिसमें चीफ सेक्रेटरी भी शामिल हुए थे. उन्‍होंने बताया कि हमने 42 टीम लगा रखी है और आप जमीन पर काम करे.

केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा था कि हेलीकॉप्टर से बारिश कर ले तो हमने कहा था करा लीजिए हमें कोई आपति नहीं है पर उससे पहले पानी के टैंकर और फायर ब्रिगेड से छिड़काव करें. ऑड-ईवन को सबसे आखिर में करना. उन्‍होंने कहा कि पहले दर्जनों काम करने है वो नहीं कर रहे है. 

स्वच्छ सांस लेना मौलिक अधिकार है पिछले तीन साल में हालात बेहतर हुए हैं. हम लगातार कोशिश कर रहे हैं. इंडस्ट्री को मॉनिटर करते है और पराली को लेकर सरकार राज्य को मदद करती है. इस साल 10 फीसदी अधिक मदद दी गई है. 

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि अभी भी उनकी समस्या के लिए सात मेंबर्स की कमेटी बनाई गई है. सबकी मदद ली जा रही है. इसका हमेशा के लिए हल निकालना होगा. यही है कि सरकार ने जो एक्शन प्लान बनाए है उनको पूरी सच्चाई और गहराई से पालन करे और कुछ हमारी बस में नहीं है. अगर कही से हवा में डस्ट या पराली जैसे हालात बन जाए तो किसी के बस में नहीं है. केंद्र से जो संभव है वो काम कर रही है.  दो दिन बाद हालात बेहतर होंगे.

VIDEO: प्रदूषण के मुद्दे पर उदासीन नहीं है पीएमओ और पर्यावरण मंत्रालय : डॉ हर्षवर्धन

उन्‍होंने कहा कि डॉक्टर होने के नाते कह सकता हूं कि प्रदूषण हवा में होता है तो हेल्थ के ऊपर दुष्प्रभाव पड़ता ही है. जो पूरी तरह से हेल्थी है उस पर तो बहुत अधिक असर नही पड़ेगा. आउटडोर जाने से बचे. पब्लिक ट्रांसपोर्ट का अधिक से अधिक इस्तेमाल करे और वेवजह पैनिक ना हो.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement