NDTV Khabar

हर जगह बिजली के तार होने से चांदनी चौक ‘टाइम बम’ की तरह : दिल्ली हाईकोर्ट

अदालत ने कहा कि किसी आपात स्थिति में उस इलाके तक दमकल की गाड़ियां या एंबुलेंस नहीं जा सकते .

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
हर जगह बिजली के तार होने से चांदनी चौक ‘टाइम बम’ की तरह : दिल्ली हाईकोर्ट

चांदनी चौक में लोग.

नई दिल्ली: दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा कि चांदनी चौक इलाके में बेतरतीब झूलते बिजली के तार से ‘टाइम बम’ जैसी स्थिति है और इससे लोगों की जिंदगी को खतरा है. अदालत ने कहा कि किसी आपात स्थिति में उस इलाके तक दमकल की गाड़ियां या एंबुलेंस नहीं जा सकते .

न्यायमूर्ति जी एस सिस्तानी और न्यायमूर्ति वी कामेश्वर राव की पीठ ने दिल्ली पुलिस और दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) को इलाके के चांदनी चौक क्षेत्र में अतिक्रमण रोकने के उसके आदेश की तामील का निर्देश देते हुए यह टिप्पणी की .

उन्होंने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि पूर्व के आदेश को यथारूप लागू किया जाएगा . ’’ पीठ ने कहा, ‘‘ये सब टाइम बम है . आप देख नहीं सकते और खुला आसमान को तो देखा भी नहीं जा सकता . हर जगह लटकता हुआ तार है. हर दुकानों पर कई तार झूलते रहते हैं . हम विरासत की बात करते हैं लेकिन जमीनी स्तर पर देखने के लिए तैयार नहीं है. ’’ यह सुझाव देते हुए कि प्रशासन और हॉकरों को कुछ अलग सोचना और नियमन करना चाहिए, पीठ ने कहा कि पिछले 50 साल या उससे पहले जो भी चांदनी चौक गया उसे पता होगा वह इलाके तब से वैसा ही है .

उन्होंने कहा, ‘‘केवल गाड़ियां बढ़ी है. हॉकर हमेशा वहां थे . ’’ मामले की अगली सुनवाई 17 नवंबर को होगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement