निराश हूं कि उपराज्यपाल बिना हमसे संपर्क किये फैसले ले रहे हैं : मनीष सिसोदिया

उपराज्यपाल को लिखे एक पत्र में सिसोदिया ने कहा कि यह बहुत निराशाजनक है कि उपराज्यपाल ने शिक्षकों की भर्ती के संबंध में जब फैसला किया तो ‘चर्चा के लिए हमें बुलाया भी नहीं गया. ’

निराश हूं कि उपराज्यपाल बिना हमसे संपर्क किये फैसले ले रहे हैं : मनीष सिसोदिया

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया(फाइल फोटो)

खास बातें

  • उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जतायी निराशा.
  • सिसोदिया ने कहा फैसला किया तो ‘चर्चा के लिए हमें बुलाया भी नहीं गया.
  • उपराज्यपाल अनिल बैजल से है शिकायत.
नई दिल्ली:

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने निराशा जतायी है कि उपराज्यपाल अनिल बैजल मुख्यमंत्री या संबंधित मंत्रियों से मशविरा किये बिना फैसला ले रहे हैं, जिसका दिल्ली के लोगों पर असर पड़ता है. उपराज्यपाल को लिखे एक पत्र में सिसोदिया ने कहा कि यह बहुत निराशाजनक है कि उपराज्यपाल ने शिक्षकों की भर्ती के संबंध में जब फैसला किया तो ‘चर्चा के लिए हमें बुलाया भी नहीं गया.’ सिसोदिया दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (डीएसएसएसबी) द्वारा दिल्ली के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया के मुद्दे का हवाला दे रहे थे.

यह भी पढ़ें : एलजी ने बंद की दिल्‍ली सरकार की उच्‍च शिक्षा लोन गारंटी योजना: मनीष सिसोदिया

सिसोदिया ने पूछा कि क्या हमें यह उम्मीद भी नहीं रखनी चाहिये कि वह जनता से जुड़े मुद्दे पर कम से कम हमसे सलाह मशविरा करें .

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : केजरीवाल और उपराज्यपाल में फिर टकराव का दौर

सिसोदिया ने कहा, ‘सेवा मामलों पर हालांकि उपराज्यपाल अंतिम प्राधिकार है, पर दिल्ली के नागरिकों के हित में होगा अगर वह कम से कम मुख्यमंत्री और प्रभारी मंत्री से उन मुद्दों पर बात कर लें जिसका असर इस शहर के लोगों पर पड़ता है . ’

(इनपुट भाषा से)