NDTV Khabar

डोर स्टेप डिलीवरी योजना के कॉल सेंटर में आज से 150 फोन लाइनें और 200 ऑपरेटर

दूसरे दिन भी डोर स्टेप डिलीवरी योजना को शानदार रेस्पॉन्स, सीएम ने योजना को लेकर एक समीक्षा बैठक की

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डोर स्टेप डिलीवरी योजना के कॉल सेंटर में आज से 150 फोन लाइनें और 200 ऑपरेटर

डोरस्टेप डिलीवरी योजना की मॉनिटरिंग सीएम अरविंद केजरीवाल स्वयं कर रहे हैं.

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार की ऐतिहासिक और अपने आपमें अलग तरह की योजना- डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेस- को दूसरे दिन भी लोगों की तरफ से बहुत शानदार रेस्पॉन्स मिला है. बुधवार को ऑपरेटरों की संख्या बढ़कर 150 और फोन लाइनों की संख्या बढ़कर 200 की जाएगी.

मंगलवार को शाम 5 बजे तक कुल 13,783 कॉल्स कनेक्ट हुईं. कॉलसेंटर कर्मियों ने इनमें से 4,758 कॉल्स के जवाब दिए. बाकी कॉल्स वेटिंग लाइन पर थीं जिन्हें कॉल बैक किया जा रहा है. कुल 8,101 कॉलर्स को एसएमएस भेजा गया है जिनकी कॉल्स का जवाब नहीं दिया जा सका. इन सभी को कॉल बैक किया जा रहा है. ये आंकड़े इस योजना की शुरुआत यानी 10 सितंबर,सोमवार, सुबह 10 बजे से लेकर 11 सितंबर,मंगलवार की शाम 5 बजे तक के हैं.

विभिन्न सेवाओं के लिए अब तक दिल्ली के नागरिकों की 624 एप्वाइंटमेंट फिक्स की गईँ. मोबाइल सहायकों ने दिल्ली के विभिन्न इलाकों में रहने वाले 74 लोगों के घर विजिट की. ऑपरेटरों और फोन लाइनों की संख्या में इजाफा किया जा रहा है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद इस योजना के क्रियान्वयन की निगरानी कर रहे हैं. उन्होंने 11 सितंबर, मंगलवार इस योजना की एक समीक्षा बैठक की.

टिप्पणियां
बैठक में दिल्ली कैबिनेट के सभी मंत्री और इस योजना को लागू करने में अहम भूमिका निभा रहे सभी लोग मौजूद रहे.
बैठक में मुख्यमंत्री ने रिसीव की गईं कॉल्स, जवाब दी गईं कॉल्स और इकट्ठा किए गए दस्तावेजों के बारे में चर्चा की. योजना की शुरुआत के दिन यानी 10 सितंबर को हैवी ट्रैफिक की वजह से 21,000 कॉल्स कनेक्ट नहीं हो पाए थे जिनमें यूनिक नंबर केवल 4,200 ही थे. पहले दिन 40 ऑपरेटरों और 50 फोन लाइनों की क्षमता पर 2,728 कॉल्स कनेक्ट हुए थे. दूसरे दिन यानी 11 सितंबर, मंगलवार को ऑपरेटरों की संख्या को बढ़ाकर 80 और फोन लाइनों की संख्या को बढ़ाकर 120 कर दिया गया.

इस व्यवस्था को और बेहतर करने के लिए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि 12 सितंबर से ऑपरेटरों और फोन लाइनों को और बढ़ाया जाए. 12 सितंबर यानी बुधवार को ऑपरेटरों की संख्या बढ़कर 150 और फोन लाइनों की संख्या बढ़कर 200 हो जाएगी. इस तरह पहले दिन की तुलना में ऑपरेटरों की संख्या में तीन गुने से ज्यादा का और फोन लाइनों में चार गुने का इजाफा होगा. सरकार का मानना है ऑपरेटरों और फोन लाइनों की संख्या बढ़ाने से फोन करने वाले लोगों को काफी सहूलियत हो जाएगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement