Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अरविंद केजरीवाल पर ताजा हमले में कपिल मिश्रा ने लांघी सीमा, रख दिया ये नया नाम

आज के ताजा हमले में कपिल मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल का नाम तक बदलने की बात कही है. अपने ट्वीट में कपिल मिश्रा ने कहा कि आम आदमी पार्टी का जो चंदा आया है वो ऐसी कंपनियों से आया जिसके लोग हवाला कारोबार से जुड़े हुए थे.

अरविंद केजरीवाल पर ताजा हमले में कपिल मिश्रा ने लांघी सीमा, रख  दिया ये नया नाम

कपिल मिश्रा की तस्वीर

खास बातें

  • कपिल मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल को कैश लेते देखने का आरोप लगाया
  • कपिल मिश्र को दिल्ली सरकार के मंत्री पद से हटाया गया
  • केजरीवाल हमेशा आरोपों को नकारते रहे हैं.
नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी से निलंबित और दिल्ली सरकार के बर्खास्त मंत्री कपिल मिश्रा ने आज फिर पार्टी संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर ताजा हमला किया है. 

आज के ताजा हमले में कपिल मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल का नाम तक बदलने की बात कही है. अपने ट्वीट में कपिल मिश्रा ने कहा कि आम आदमी पार्टी का जो चंदा आया है वो ऐसी कंपनियों से आया जिसके लोग हवाला कारोबार से जुड़े हुए थे. उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल जिस हेमप्रकाश का लेटरहेड छिपाते (होना चाहिए छपाते यानि प्रिंट कराते हैं) हैं उनकी कंपनी पर हवाला मामलों में छापे पड़े हैं.

इतना ही नहीं इसके साथ ही दिल्ली सरकार में जल मंत्री रहे कपिल मिश्रा ने कहा कि क्यों न अरविंद केजरीवाल का नाम अरविंद 'हवाला' केजरीवाल रख दिया जाए. कपिल मिश्रा का दावा है कि उन्हें एक रशिया (रूस) की यात्रा के डिटेल मिले हैं. उसका हवाला से लिंक है. 

 


इसके साथ ही कपिल मिश्रा ने एक बार फिर अरविंद केजरीवाल से  सारी विदेश यात्राओं की जानकारी सार्वजनिक करने की बात कही है. उन्होंने कहा कि अगर अरविंद केजरीवाल ऐसा नहीं करेंगे तब भी वह एक एक कर सारी जानकारी निकाल ही लेंगे. 

 


उन्होंने फिर पूछा कि आखिर जर्मनी कौन कौन गया था, कितने कितने दिन और किस किस से मिला. साथ ही उन्होंने कहा कि इस सारे मामले की कई जानकारियां उनके पास आ रही हैं. इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि वह रूस के दौरे से जुड़े कुछ तथ्य देश के सामने रखेंगे.
 
उल्लेखनीय है कि कपिल मिश्रा को पार्टी से निलंबित किया गया और मंत्री पद से बर्खास्त किया गया है. इसके पीछे कारण यह बताया गया कि वह दिल्ली में पानी की व्यवस्था को ठीक नहीं कर पाए. जबकि खबरें आईं कि पार्टी में कवि और पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास के साथ मिलकर कपिल मिश्रा बगावत की तैयारी में थे. इस बात की जानकारी अरविंद केजरीवाल को समय रहते मिल गई और उन्होंने यह कदम उठाया.