NDTV Khabar

उपराज्यपाल ने उनके कार्यालय में विधेयक लंबित होने के सिसोदिया के दावे को किया खारिज

उपराज्यपाल ने कहा कि विधेयक पेश करने के फैसले पर पुनर्विचार के लिए उनकी सलाह के बावजूद दिल्ली विधानसभा ने विधेयक पारित किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उपराज्यपाल ने उनके कार्यालय में विधेयक लंबित होने के सिसोदिया के दावे को किया खारिज

उपराज्यपाल अनिल बैजल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: उपराज्यपाल अनिल बैजल ने बुधवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के दावे को खारिज कर दिया कि अतिथि शिक्षकों को नियमित किए जाने को लेकर एक विधेयक उनके कार्यालय में लंबित है. उन्होंने कहा कि ‘लोगों में दिखावे’ की बजाए संबंधित कानूनों के भीतर इसका समाधान हो सकता है. हालांकि, सिसोदिया ने बैजल को अन्य पत्र में आरोप लगाया कि उन्हें पता चला है कि उपराज्यपाल ने शिक्षा विभाग को अतिथि शिक्षकों को रास्ता दिए बगैर शिक्षकों के लिए नियुक्ति का विज्ञापन देने के लिए कहा था.

उन्होंने बैजल से आप सरकार ने अब तक जो कुछ किया है उसे बर्बाद नहीं करने और निर्वाचित सरकार के फैसले को दरकिनार नहीं करने का आग्रह किया है.

यह भी पढ़ें : गेस्‍ट टीचर्स को नियमित करने वाले बिल को जल्‍द मंजूरी दें उपराज्यपाल: दिल्‍ली सरकार

उपराज्यपाल कार्यालय ने सिसोदिया को बैजल के पत्र का जिक्र करते हुए कहा, ‘राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की सरकार के कामकाज के नियम के तहत जरूरी अपेक्षित रिपोर्ट के साथ विधेयक को उनके (उपराज्यपाल) सामने पेश नहीं किया गया है. इसलिए यह कहना ठीक नहीं होगा कि विधेयक उनके विचार के लिए लंबित है.’

VIDEO : अधर में अटके दिल्ली के गेस्ट टीचर​


टिप्पणियां
उपराज्यपाल ने कहा कि विधेयक पेश करने के फैसले पर पुनर्विचार के लिए उनकी सलाह के बावजूद दिल्ली विधानसभा ने विधेयक पारित किया. यह शासन के संवैधानिक तकाजे के मुताबिक नहीं था. उन्होंने कहा, ‘लोगों के बीच दिखावे की बजाए संबंधित कानून के भीतर इस समस्या का समाधान पाया जा सकता है.’
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement