लॉकडाउन के बीच एम्बुलेंस में ले जा रहा था सवारी, पुलिस ने पकड़ा

पुलिस रजोकरी के पास चेकिंग कर रहा थी तभी यूपी नम्बर की एक एम्बुलेंस आयी जिसे शक होने पर चेकिंग के लिए रोका गया,जब पूरी एम्बुलेंस चेक किया तो उसमें कोई बीमार शख्स नहीं मिला बल्कि 9 सवारियां मिलीं.

लॉकडाउन के बीच एम्बुलेंस में ले जा रहा था सवारी, पुलिस ने पकड़ा

आरोपी एंबुलेंस में सवारियों को बैठाकर यूपी ले जा रहा था.

नई दिल्ली:

ज़िंदगी और मौत से जूझ रहे लोगों को समय से अस्पताल पहुंचाने वाली एम्बुलेंस को रास्ता देने के लिए पुलिस पहली प्राथमिकता देती है,खासतौर से लॉकडाउन के बीच कोरोना से पीड़ित मरीजों को ले जाने लिए भी हर जगह एम्बुलेंस पहुंच रही हैं. पुलिस बैरिकेड पर और सड़क पर हर कोई इन्हें पहले रास्ता देता है,लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो एम्बुलेंस का दुरुपयोग कर रहे हैं. ऐसे ही एक शख्स को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है जो एम्बुलेंस में सवारियां ले जा रहा था.

Newsbeep

दक्षिणी पश्चिमी दिल्ली के एडिशनल डीसीपी इंगित सिंह के मुताबिक उनका स्टाफ NH-8 पर रजोकरी के पास चेकिंग कर रहा था ,तभी यूपी नम्बर की एक एम्बुलेंस आयी जिसे शक होने पर चेकिंग के लिए रोका गया,जब पूरी एम्बुलेंस चेक किया तो उसमें कोई बीमार शख्स नहीं मिला बल्कि 9 सवारियां मिलीं,जिन्हें मानेसर से लाया गया था. सभी सवारियां मजदूर थीं जो मानेसर से यूपी के बस्ती जा रहे थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एम्बुलेंस के ड्राइवर ने इन्हें एम्बुलेंस में ले जाने के लिए 16,000 हज़ार रुपये लिए और बीमार लोगों को ले जाने के बहाने मानेसर से निकला ,उसने गुरुग्राम पुलिस की आंखों में धूल झोंकते हुए गुरुग्राम बॉर्डर तो पार कर लिया लेकिन दिल्ली में पकड़ा गया. पुलिस ने आरोपी एम्बुलेंस ड्राइवर कृष्ण कुमार को गिरफ्तार कर लिया और उसकी एम्बुलेंस भी जब्त कर ली है.