NDTV Khabar

उपहार कांड के बीस साल : पीड़ितों ने की इसाफ की कामना, गोपाल अंसल ने लगाई दया याचिका

20 मार्च 2017 से जेल में बंद गोपाल अंसल की ओर से राम जेठमलानी ने दया याचिका दाखिल की

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उपहार कांड के बीस साल : पीड़ितों ने की इसाफ की कामना, गोपाल अंसल ने लगाई दया याचिका

उपहार सिनेमा

खास बातें

  1. बीस साल पहले उपहार सिनेमा में लगी थी आग
  2. कुल 59 लोग उपहार सिनेमा अग्निकांड में मारे गए थे
  3. पीड़ित परिवार समुचित इंसाफ न मिलने से दुखी
नई दिल्ली:

बीस बरस पहले 13 जून को कई परिवारों का बहुत कुछ उपहार सिनेमाघर की आग में जलकर खाक हो गया था. धुएं और कालिख से भरी इस इमारत की तरह इनकी जिंदगी भी जैसे तब से राख-राख है. आज उसी उपहार सिनेमाघर के बाहर इन प्रार्थना की और कामना भी कि इंसाफ मिले.

शेखर कृष्णमूर्ति ने एनडीटीवी इंडिया से कहा कि "लम्बी लड़ाई के बाद कोर्ट ने एक साल की सजा दी थी, लेकिन गोपाल अंसल वह भी काटना नहीं चाहते. इतने साल बीत जाने के बाद इस न्याय का कोई मतलब नहीं है."  शेखर और नीलम कृष्णमूर्ति ने उस दिन अपने दोनों बच्चों को खो दिया था.

कुल 59 लोग उपहार सिनेमा की उस आग में मारे गए. अदालत में मामला इतना लंबा खिंचा कि मुख्य आरोपी बूढ़े हो गए. सुशील अंसल को अदालत ने उनकी उम्र देखते हुए जेल जाने से बचा लिया. गोपाल अंसल को साल भर की सजा मिली है. वह 20 मार्च 2017 से जेल में हैं. उनके परिवार ने अब राष्ट्रपति को दया याचिका दी है. राम जेठमलानी ने गोपाल अंसल की तरफ से याचिका दी है.

टिप्पणियां

नीलम कृष्णमूर्ति का कहना है कि अंसल बंधुओं ने पिछले साल दिल्ली सरकार के पास साठ करोड़ रुपये जमा करवा दिए थे. कोर्ट ने पेनाल्टी लगाई थी, उन्हें देनी ही पड़ी.


गोपाल अंसल की दया याचिका फिलहाल गृह मंत्रालय में है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के मीडिया एडवाइज़र अशोक प्रसाद ने कहा कि "हमारे पास दो हफ्ते पहले याचिका आई है. उसे सभी मंत्रालयों के पास कमेंट के लिए भेजा गया है."



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement