NDTV Khabar

मिंटो ब्रिज डूबने का क्या है BJP कनेक्शन? 

मिंटो ब्रिज का पूरा इलाका ऐसा डूबा कि दो दिन बाद भी हालत इतनी खराब है कि पूरे इलाके में गाद दिखाई दे रही है और नाले जैसी बदबू लगातार बनी हुई है.

696 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मिंटो ब्रिज डूबने का क्या है BJP कनेक्शन? 

दिल्ली में हुई भारी बारिश के बाद मिंटो रोड पर डीटीसी की बसें तक फंस गईं.

नई दिल्ली: दिल्ली में बीते एक हफ़्ते में कनॉट प्लेस का मिंटो ब्रिज दो बार ऐसा डूब चुका है कि वहां डीटीसी की बसें तक फंस गईं. सबसे पहले बीते शुक्रवार और फिर सोमवार को मिंटो ब्रिज का पूरा इलाका ऐसा डूबा कि दो दिन बाद भी हालत इतनी खराब है कि पूरे इलाके में गाद दिखाई दे रही है और नाले जैसी बदबू लगातार बनी हुई है. इलाके के मशहूर काली मंदिर के मुख्य पुजारी पीएल भट्टाचार्य ने बताया कि वो बीते 30 साल से यहां पर हैं, लेकिन पूरे दिन बरसात होने पर भी कभी पानी नहीं भरा. इस बार तो एक घंटे की बरसात से ही पानी भर जा रहा है. मंदिर के केयरटेकर अजित कुमार ने बताया कि उनके पार्षद इस इलाके में आए तो उन्होंने कहा कि पास में बीजेपी दफ़्तर बना है उसकी वजह से ऐसा हुआ है.

यह भी पढ़ें : दिल्‍ली में भारी बारिश के बाद ब्रिज के नीचे डूबी बस

दरअसल आजकल ये चर्चा भी है और सवाल भी उठ रहे हैं कि जबसे मिंटो ब्रिज के पास में बीजेपी का नया मुख्यालय बना है तबसे ये हालात बने हैं. मिंटो ब्रिज इलाके से करीब 500 मीटर दूरी पर इसी साल फरवरी में बनकर तैयार हुआ है बीजेपी का हेडक्वार्टर. आखिर मिंटो ब्रिज डूबने से इसका क्या कनेक्शन है? दरअसल जिस सड़क पर बीजेपी का मुख्यालय बना है वो पंडित दीनदयाल उपाध्याय मार्ग मिंटो ब्रिज इलाके में है. यह इलाका दिल्ली सरकार के PWD विभाग का है. इसलिए यहां पानी ना भरे इसका ज़िम्मा PWD का है. PWD विभाग के अधिकारियों ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा कि बीजेपी मुख्यालय की दीवार बनाते समय 2400 एमएम डायमीटर की सीवर लाइन टूट गई थी.

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की सुरक्षा कारणों के चलते दिल्ली जल बोर्ड ने 2400 एमएम डायमीटर की सीवर लाइन बंद कर दी और उसको  1200 एमएम डायमीटर के एक बरसाती नाले से जोड़ दिया. ये नाला मिंटो ब्रिज अंडरपास से पानी को ITO की तरफ़ ले जाता था. यानी पानी की निकासी की जगह कम हुई और रास्ता मुश्किल हुआ, इसलिये थोड़ी सी बरसात ने मिंटो ब्रिज डुबो दिया.

VIDEO : मुंबई में भारी बारिश के साथ आया हाई टाइड, देखें इस मॉनसून की सबसे ऊंची लहरें

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बीजेपी पर हमला साधते हुए कहा 'पहले दिल्ली के बच्चों के स्कुल की जगह बीजेपी का मुख्यालय बनाया गया. अब पानी निकलने के रास्ते रोके गए तो जनता अब भुगतेगी, लेकिन हम काम कराएंगे. जवाबी हमला करते हुए बीजेपी नेता हरीश खुराना ने कहा कि 'इसके अलावा जो दिल्ली के बाके नाले हैं जिनकी आपने सफाई नहीं करी उनकी ज़िम्मेदारी किसकी है? मुझे लगता है जब आप किसी पर उंगली उठाते हैं तो आप भूल जाते हैं कि 4 उंगलियां आपके ऊपर भी आएंगी. इसलिए काम कीजिये और इस तरह के आरोप प्रत्यारोप से बचिए. दिल्ली का भला करना है तो नाले तो साफ करने पड़ेंगे'

टिप्पणियां
VIDEO: दिल्ली के मिंटो रोड अंडरपास में फंसी बस, मुंबई में समंदर फिर उफान पर


आरोप दिल्ली की सरकार पर भी लग रहे हैं. PWD की रिपोर्ट में ये कहा गया है कि दिल्ली जल बोर्ड को मॉनसून से पहले 2400 एमएम डायमीटर की सीवर लाइन को डाइवर्ट करके चालू करना था, लेकिन उसने काम शुरू ही नहीं किया. लेकिन अब जब बदनामी हुई और सब तरफ से सरकार पर सवाल उठने लगे तो तुरत उस सीवर को डाइवर्ट करने का काम शुरू कर दिया गया. फिलहाल इस सीवर लाइन से पानी मिंटो रोड से ITO की तरफ़ कुछ हद तक जाना शुरू हो गया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement