NDTV Khabar

NGT ने दिल्‍ली सरकार से पूछे ये 13 सवाल, ऑड-ईवन पर आज होगा फैसला

एनजीटी ने शुक्रवार को कहा था कि आप जब तक ऑड ईवन लागू नहीं करेंगे जब तक आप हमें ये नहीं बता देते कि इसका क्‍या फायदा होगा.

42 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
NGT ने दिल्‍ली सरकार से पूछे ये 13 सवाल, ऑड-ईवन पर आज होगा फैसला

एनजीटी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. हमारी संतुष्टि के बिना ऑड ईवन लागू नहीं होगा: एनजीटी
  2. NGT ने कहा, सुप्रीम कोर्ट ने ऑड-ईवन लागू करने का नहीं दिया था आदेश
  3. पिछले एक साल में दिल्‍ली सरकार ने कुछ नहीं किया: एनजीटी
नई दिल्‍ली: दिल्‍ली में सोमवार से ऑड-ईवन लागू होगा या नहीं इसको लेकर एनजीटी आज (शनिवार) फिर सुनवाई करेगा. एनजीटी नेे इस मामले दिल्‍ली सरकार ने 13 सवाल पूछे थे जिसके जवाब आज राज्‍य सरकार दे सकती है. शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई के दौरान एनजीटी दिल्‍ली सरकार को फटकार लगाई थी और कहा था कि हमारी संतुष्टि के बिना ऑड ईवन लागू नहीं होगा. दिल्ली सरकार ने अनुरोध किया था कि जरूरी सामान के उद्योगों को बैन से बाहर रखा जाए जिस पर एनजीटी ने कहा था कि हम अगर बच्चों को साफ हवा नहीं दे रहे हैं तो पाप कर रहे हैं. 

NGT ने कहा- हमारी संतुष्टि के बिना लागू नहीं होगा ऑड-ईवन, सरकार से पूछे ये 13 सवाल

एनजीटी ने दिल्‍ली सरकार की उस दलील को भी खारिज कर दिया जिसमें उसने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर उन्‍होंने ऑड-ईवन लागू किया था. एनजीटी ने साफ किया कि सुप्रीम कोर्ट ने आपको ऑड-ईवन लागू करने का कोई आदेश नहीं दिया. कोर्ट ने आपको ग्रेडेड प्लान बताया था और 100 चीजें बताईं थीं. एनजीटी ने कहा कि जब प्रदूषण कम हो रहा है तो आप ऑड-ईवन लागू कर रहे और पिछले एक साल में आपने कुछ नहीं किया.
 

एनजीटी ने ऑड-ईवन से जुड़े पूछे ये सवाल  

1- आप किस डेटा के आधार पर सिर्फ 5 दिन के लिए ऑड-ईवन क्यों लागू कर रहे हैं?
2- पिछली बार ऑड-ईवन लागू हुआ था तब डीपीसीसी के अनुसार प्रदूषण कम नहीं हुआ था
3- 48 घंटे पीएम 10 अगर 500 होता है और पीएम 2.5 अगर 300 होगा तो क्या आप ऑड-ईवन लागू कर देंगे?
4- जो 500 बसें लाई जा रही हैं उनमें कितनी डीजल की हैं?
5- एक डीजल गाड़ी कितनी पेट्रोल कार के बराबर प्रदूषण करती है?
6) पेट्रोल और छोटी गाड़ियों का दिल्ली के प्रदूषण में कितना योगदान है?
7) मोटरसाइकिल कितना प्रदूषण करती हैं और आपने इन्हें क्यों छूट दी?
8) बोर्ड और मीडिया के मुताबिक, निर्माण कार्य चल रहा है. हम निर्देश देते हैं दिल्ली सरकार डीडीए और दूसरी सरकारें इंस्पेक्ट करें कि ये न हो और एक लाख रुपये का जुर्माना लगाएं.
10) उद्योग जो जरूरी सामान और खाने का सामान बनाती हैं उन्हें हम बैन से बाहर करते हैं.
11) हम हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, यूपी, दिल्ली को आदेश देते हैं कि किसी भी प्रकार की कोई पराली नहीं जलाई जाए. 
12) अगर पराली जलाई जाएगी तो जिम्मेदार अधिकारियों के वेतन से दंड काटा जाएगा.
13) कोई भी ओवरलोडड ट्रक दिल्ली और एनसीआर में न आएं.

एनजीटी ने दिल्ली सरकार से कहा संतुष्ट कीजिए, वरना लागू नहीं होने देंगे ऑड ईवन

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान एनजीटी ने कहा था कि आप जब तक ऑड ईवन नहीं लागू करेंगे जब तक आप हमें ये नहीं बता देते कि इसका क्‍या फायदा होगा. आप जिस तरह से ऑड ईवन लागू कर रहे हैं वो वैज्ञानिक तरीका से नहीं है. आपके पास पर्याप्त सीएनजी बसें नहीं है. एनजीटी ने कहा कि राव तुला राम की रेड लाइट का आपने कुछ नहीं किया. सोमवार को अगर रेड लाइट ठीक नहीं होगी तो हम आप पर और दिल्ली पुलिस के ऊपर 50000 का जुर्माना लगाएंगे.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement