NDTV Khabar

नोएडा : नोटबंदी में 430 किलो सोने की अवैध बिक्री से चांदी काटने वाला 'भगोड़ा' गिरफ्तार

17 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोएडा : नोटबंदी में 430 किलो सोने की अवैध बिक्री से चांदी काटने वाला 'भगोड़ा' गिरफ्तार
नई दिल्ली: नोटबंदी के दौरान 430 किलो सोना अवैध तरीके से बेचने के आरोप में नोएडा पुलिस ने एक ज्वैलरी कंपनी के संचालक को गिरफ्तार किया है. अवैध तरीके से बेचे गए इस सोने की कीमत 140 करोड़ रुपये है. नोएडा पुलिस ने आरोपी संचालक को मंगलवार रात राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) नोएडा की टीम के सहयोग से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपी की पहचान पंजाबी बाग दिल्ली निवासी देवाशीष गर्ग के रूप में हुई है. उसे मंगलवार शाम एक सूचना के आधार पर सेक्टर-63 से गिरफ्तार किया गया है. पूछताछ में पता चला कि वह डीआरआई के नोएडा ऑफिस से लौट रहा था. डीआरआई ने उसे पूछताछ के लिए बुलाया था.

देवाशीष गर्ग की एनएसईजेड फेज दो में श्रीलाल महल ज्वैलर्स के नाम से ज्वैलरी एक्सपोर्ट की कंपनी है. इनकी कंपनी ने नोटबंदी के दौरान ड्यूटी फ्री सोना आयात किया था. इससे ज्वैलरी बनाकर कंपनी को वापस निर्यात करना था. एक्सपोर्ट करने की जगह कंपनी ने नोटबंदी के दौरान दिल्ली एनसीआर में 430 किलो ड्यूटी फ्री आयातित सोना 140 करोड़ रुपये में विभिन्न लोगों को बेच दिया था. सोने की अवैध बिक्री के लिए देवाशीष गर्ग के पिता प्रेम चंद्र गर्ग और कंपनी के पांच अधिकारी पहले से मेरठ जेल में बंद हैं. इन लोगों को दिसंबर 2016 में ही गिरफ्तार कर लिया गया था. उस वक्त देवाशीष गर्ग फरार हो गया था. देवाशीष ही इस पूरे अवैध व्यवसाय का मास्टर माइंड है. उसकी तलाश चल रही थी. इन लोगों के खिलाफ कंजरवेशन ऑफ फॉरेन एक्सचेंज एंड प्रीवेंशन ऑफ स्मगलिंग एक्टिविटीज (कोफेपोसा) अधिनियम के तहत मामला दर्ज है.

आरोपी देवाशीष गर्ग की गिरफ्तारी के लिए सेंट्रल इकोनॉमीक इंटेलिजेंस ब्यूरो (सीईआईबी) ने प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को गिरफ्तारी वारंट भेजा था. डीजीपी जावीद अहमद ने ये गिरफ्तारी वारंट नोएडा पुलिस को भेजा था. इसके बाद से नोएडा पुलिस भी देवाशीष गर्ग की तलाश कर रही थी. गिरफतारी के बाद देवाशीष गर्ग को भी मेरठ जेल भेज दिया गया है. देवाशीष समेत इस केस में पहले से गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ मेरठ स्थित आर्थिक अपराध की विशेष अदालत में मामला चल रहा है. इसलिए आरोपयिों को मेरठ जेल में रखा गया है.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement