NDTV Khabar

एक किताब ने वकील प्रशांत पटेल को AAP के 20 विधायकों के खिलाफ केस करने को प्रेरित किया

चुनाव आयोग द्वारा राष्ट्रपति को आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य करार देने की सिफ़ारिश के बाद आम आदमी पार्टी मुसीबत में है.

155 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
एक किताब ने वकील प्रशांत पटेल को AAP के 20 विधायकों के खिलाफ केस करने को प्रेरित किया

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता.

खास बातें

  1. आप के 20 विधायकों को चुनाव आयोग ने अयोग्य करार दिया है
  2. यह मामला प्रशांत पटेल की शिकायत पर दर्ज हुआ था
  3. प्रशांत पटेल पेशे से वकील है.
नई दिल्ली: चुनाव आयोग द्वारा राष्ट्रपति को आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य करार देने की सिफ़ारिश के बाद आम आदमी पार्टी मुसीबत में है. इस पूरे मामले को 30 साल के युवा वक़ील प्रशांत पटेल ने उजागर किया है. प्रशांत पटेल उत्तर प्रदेश के फ़तेहपुर के रहने वाले हैं. प्रशांत पटेल ने 19 जून 2015 को राष्ट्रपति के पास याचिका दायर की थी कि राजधानी एक्ट के सेक्शन 15 के मुताबिक आम आदमी पार्टी के 21 विधायक लाभ के पद के रहने के साथ विधायक नहीं रह सकते इसलिए इनकी सदस्यता रद्द की जानी चाहिए.

यह भी पढ़ें : ये हैं 4 दलीलें जिससे आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता पर लटकी तलवार

दिल्ली असेंबली ने ऐसा कोई कानून पारित नहीं किया है जिसमें संसदीय सचिवों के पद को लाभ के पद से बाहर रखा जा सके जिसके बाद तात्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने चुनाव आयोग से इस पूरे मामले पर सुझाव मांगा था. पिछले 8 सालों से दिल्ली में रह रहे प्रशांत ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से बीएससी की पढ़ाई की फिर एमबीए किया जिसके बाद ग्रेटर नोएडा की चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से कानून की पढ़ाई करने के बाद देश के कई न्यायालयों में वकालत कर रहे हैं. 

यह भी पढ़ें : ... फिर मुसीबत में पड़ सकती है दिल्ली की केजरीवाल सरकार : ये है 27 विधायकों वाला पूरा मामला

टिप्पणियां
इस पूरे मामले से पहले प्रशांत ने आमिर खान की पीके मूवी में हिंदू देवी देवताओं के अपमान के ख़िलाफ़ फ़िल्म के निर्माता राजू हिरानी और आमिर ख़ान के ऊपर एफ़आईआर भी दर्ज़ कराई थी.

VIDEO: आप के विधायक और ऑफिस ऑफ प्रॉफिट

पटेल को दिल्ली विधानसभा के पूर्व सचिव एस के शर्मा की एक  किताब 'दिल्ली सरकार की शक्तियां व सीमाएं'. यह किताब पढ़ने के बाद समझ में आया कि सीएम केजरीवाल ने अपने 21 विधायकों को असंवैधानिक तरीके से संसदीय सचिव बनाया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement