NDTV Khabar

दिल्ली के कालका जी इलाके में पशु ले जा रहे लोगों से मारपीट के मामले में एक गिरफ्तार

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली के कालका जी इलाके में पशु ले जा रहे लोगों से मारपीट के मामले में एक गिरफ्तार

दिल्ली के कालकाजी क्षेत्र में पशु ले जा रहे लोगों के साथ मारपीट की घटना हुई थी.

नई दिल्ली: दिल्ली के कालका जी इलाके में पशु ले जा रहे तीन लोगों से मारपीट के आरोप में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. जांच में पता चला है कि मारपीट करने वाले कोई गौरक्षक नहीं बल्कि एनिमल एक्टिविस्ट और उनके साथी हैं. रविवार देर रात पशु क्रूरता अधिनियम के तहत गिरफ्तार रिज़वान कामिल और आशु को जमानत मिल गई. उनका आरोप है उन पर पशु क्रूरता का आरोप लगाकर 15-20 लोगों की भीड़ ने उन्हें बुरी तरह पीटा. तीनों हरियाणा के पटौदी के रहने वाले हैं. इस घटना से उनका परिवार भी डर गया है.

टिप्पणियां
पुलिस ने मारपीट के मामले में रोहिणी इलाके में रहने वाले शशांक शर्मा को गिरफ्तार किया है जो खुद को पीएफए का सदस्य बता रहा है. उसकी मां भी पीएफए सदस्य है. पुलिस को शक है कि मारपीट में कोई गौरक्षक नहीं बल्कि पीपुल्स फ़ॉर एनिमल्स का सदस्य गौरव गुप्ता और उसका साथी शामिल है. गौरव ने ही पशु क्रूरता का मामला दर्ज कराया था. हालांकि गौरव मारपीट से इनकार कर रहा है.

गौरव और उसके भाई सौरभ का झूठ पिछले साल के उस पत्र से साफ पता चलता है जिसमें पीएफए की तरफ से सौरभ को लिखा गया है. उसमें गलत तरीके से छापेमारी करने और पशु ले जा रहे लोगों को पकड़ने के तरीके को लेकर चेतावनी भी दी गई. लेकिन सवाल यह है कि आखिर यह लोग इतना सब होने के बाद भी ये पीएफए के सदस्य कैसे बने रहे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement