NDTV Khabar

बिलों को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाये जाने का आरोप, बिजली कंपनियों के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में एक और याचिका दायर

याचिका में अदालत की निगरानी में जांच का अनुरोध किया गया है. यह याचिका पूर्व नौकरशाह और सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर ने दायर की है.

13 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिलों को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाये जाने का आरोप, बिजली कंपनियों के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में एक और याचिका दायर

फाइल फोटो

नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट में अडाणी और एस्सार समूह की विद्युत उत्पादक कंपनियों द्वारा बिजली परियोजनाओं से संबद्ध कच्चे माल और उपकरण के आयात के बिल को कथित रूप से बढ़ा-चढ़ाकर दिखाये जाने के मामले में आज एक और याचिका दायर की गयी. याचिका में अदालत की निगरानी में जांच का अनुरोध किया गया है. यह याचिका पूर्व नौकरशाह और सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर ने दायर की है. इससे पहले, ऐसे ही मामले गैर-सरकारी संगठनों सेंटर फार पब्लिक इंटरेस्ट लिटिगेशन और कॉमन काज ने दायर कर रखे हैं.

पढ़ें : 'रद्द हो सकते हैं दिल्‍ली की बिजली कंपनियों के लाइसेंस'

जब गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) की याचिका सुनवाई के लिये आयी, न्यायाधीश एस रवीन्द्र भट्ट और न्यायाधीश सुनील गौर ने उनसे बिजली संयंत्रों के उपकरण आयातित ईंधन को लेकर कथित रूप से बिल बढ़ा-चढ़ाकर दिये जाने के मामले में राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) की जांच का ब्योरा देने को कहा.
पीठ ने इस मामले के साथ नई याचिका को भी संलग्न कर दिया. दोनों एनजीओ ने मामले में एसआईटी जांच का निर्देश देने का आग्रह किया है. मामले की अगली सुनवाई 25 अक्तूबर को होगी.

इनपुट : भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement