दिवाली की रात सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करने के मामले में 300 से अधिक लोग गिरफ्तार

दिवाली के मौके पर दिल्ली-NCR में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ीं. दिल्ली-NCR में लोगों ने जमकर आतिशबाज़ियां कीं और प्रदूषण की रत्ती भर भी परवान नहीं की.

दिवाली की रात सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करने के मामले में 300 से अधिक लोग गिरफ्तार

दिल्लीवालों ने जमकर उड़ाई सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां.

नई दिल्ली:

दिवाली के मौके पर दिल्ली-NCR में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ीं. दिल्ली-NCR में लोगों ने जमकर आतिशबाज़ियां कीं और प्रदूषण की रत्ती भर भी परवान नहीं की. दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-NCR में सिर्फ ग्रीन पटाखे छोड़ने और उसके लिए रात 8 से 10 बजे तक का ही समय दिया था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. जिसकी वजह से दिवाली की अगली सुबह यानी गुरुवार का मौसम बेहद खराब हो गया और दिल्ली में प्रदूषण की वजह से धूंध की मोटी चादर बिछी दिखी. 

दिल्लीवालों ने जमकर उड़ाई सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां, दिवाली के पटाखों ने बिछाई धुंध की चादर, जानें अन्य शहरों का हाल

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता मधुर वर्मा ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करने के 550 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं 72 लोगों के खिलाफ एक्सप्लोसिव एक्ट का मामला दर्ज किया गया और 75 लोगों को गिरफ्तार किया गया. 

Air pollution: पटाखों के धुएं से बच्चे और बुजुर्गों को ज्यादा नुकसान 

मधुर वर्मा ने बताया कि आईपीसी की धारा 188 (आज्ञा का उल्लंघन) के तहत करीब 550 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं और शीर्ष अदालत के आदेशों का उल्लंघन करने के मामले में 310 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार लोगों को हालांकि बाद में जमानत दे दी गई. उन्होंने बताया कि शीर्ष अदालत के आदेश का उल्लंघन करने के आरोप में 24 किशोरों के खिलाफ भी किशोर न्याय अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है. 

VIDEO : दिल्लीवालों ने जमकर उड़ाई सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वहीं, फायर विभाग को 2015 के बाद इस साल आग लगने की सबसे ज्यादा कॉल आई. इस साल 271 कॉल आए, वहीं, 2017 में यह आंकड़ा 204 था. 2016 में 243 और 2015 में आग लगने की 290 कॉल आई थी.  

(इनपुट: भाषा से भी)