प्रदूषण से निपटने के लिए प्रशासन - आम आदमी की अनोखी पहल

ग़ाज़ियाबाद की जिला अधिकारी  रितु माहेश्वरी ने कहा  कि उन्हें उम्मीद है वो सबके के साथ मिलकर ग़ाज़ियाबाद को प्रदूषण मुक्त, स्वच्छ और हरित बनाएंगे.

प्रदूषण से निपटने के लिए प्रशासन - आम आदमी की अनोखी पहल

प्रशासन की पहल

नई दिल्ली:

ग़ाज़ियाबाद - प्रदूषित हवाओं को थोड़ा बेहतर बनाने की कोशिश में सरकार और आम आदमी अब धीरे-धीरे अपनी भूमिका समझा रहा है और उसे निभाने की कोशिश शुरू हो गई है. इस साल सबसे प्रदूषित शहरों में शुमार ग़ाज़ियाबाद में भी रविवार को कुछ इसी तरह की कोशिश दिखी. जिला प्रशासन ने स्कूली बच्चों और शहर के नागरिकों के साथ मिल कर प्रदूषण के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाया. इसे "राहगीरी" नाम दिया गया है. ग़ाज़ियाबाद की जिला अधिकारी  रितु माहेश्वरी ने कहा  कि उन्हें उम्मीद है वो सबके के साथ मिलकर ग़ाज़ियाबाद को प्रदूषण मुक्त, स्वच्छ और हरित बनाएंगे. पहले ही मौसम विभाग ने चेतावनी दी थी कि दिल्ली और एनसीआर में नवंबर के पहले दस दिनों में प्रदूषण काफी बढ़ेगा जिसके मद्देनज़र निर्माण की कई प्रोजेक्ट को रोक दिया गया था.


ग़ाज़ियाबाद से होकर गुजरने वाले दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे समेत कई निर्माण की परियोजना को ग़ाज़ियाबाद प्रशासन ने पहले ही दस दिनों के लिए रोक दिया है. प्रदूषण के नियमों को न मैंने वाले कई औद्योगिक यूनिट्स पर भी कार्रवाई की गई है. "राहगीरी" को जिला प्रशासन एक सत्याग्रह की तरफ लोगों में जागरूकता फ़ैलाने के लिए इस्तेमाल कर रहा है. दिवाली से पहले आयोजित इस अभियान का एक फायदा ये भी है कि बच्चों को पटाखे से होने वाले प्रदूषण के बारे में भी जागरूक किया जा रहा है. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com