NDTV Khabar

CPCB की हिदायत के बाद दिल्ली के पब्लिक स्कूल में नहीं होगी असेंबली और आउटडोर एक्टिविटी

बच्चों को प्रदूषण से होने वाले नुकसान से बचाने के लिए सभी स्कूलों ने फैसला किया है कि वह 1 से 10 नवंबर तक असेंबली और आउटडोर एक्टिवीटी बंद रखेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CPCB की हिदायत के बाद दिल्ली के पब्लिक स्कूल में नहीं होगी असेंबली और आउटडोर एक्टिविटी

प्रदूषण की वजह से स्कूल नहीं आयोजित करेंगी प्रार्थना सभा

नई दिल्ली:

दिल्ली और एनसीआर में प्रदूषण (Delhi Air Pollution) के बढ़ते स्तर को देखते हुए दिल्ली के पब्लिक स्कूल ने एक बड़ा फैसला लिया है. बच्चों को प्रदूषण से होने वाले नुकसान से बचाने के लिए सभी स्कूलों ने फैसला किया है कि वह 1 से 10 नवंबर तक असेंबली और आउटडोर एक्टिवीटी बंद रखेंगे. स्कूल एसोसिएशन के इस फैसले से 20 लाख से ज्यादा बच्चे प्रभावित होंगे. गौरतलब है कि स्कूल एसोसिएशन ने यह फैसला सीपीसीबी की हिदायत को ध्यान में रखते हुए लिया है. बता दें कि बीते कुछ दिनों से दिल्ली और एनसीआर में प्रदूषण सबसे खतरनाक स्तर को भी पार कर गया है.

यह भी पढ़ें: इस खतरनाक पॉल्यूशन के हॉटस्पॉट दिल्ली एनसीआर सहित देश के तीन स्थानों पर

दिल्ली-एनसीआर की दमघोंटू हवा से लोगों को निजात मिले, इसके लिए सुप्रीम कोर्ट की भूरेलाल कमेटी ने एक नवंबर से ग्रेडेड रिस्पॉन्स  ऐक्शन प्लान लागू कर दिया है. इसके तहत दिल्ली और एनसीआर में निर्माण कार्य पूरी तरह से बंद रहेगा. स्टोन क्रशर और हॉट मिक्स प्लांट बंद रहेंगे.  4 से 7 नवंबर के बीच सभी प्लांट्स, जिसमें ईंधन के तौर पर कोयले या बॉयोमॉस का इस्तेमाल होता है वह भी बंद रहेंगे. इसके अलावा अखबार के माध्यम से भी लोगों से अपील की जाएगी कि पब्लिक यातायात का इस्तेमाल करें और GRAP के नियमों और दंड के बारे में लोगों को अवगत कराया जाएगा.


यह भी पढ़ें: WHO की रिपोर्ट : दुनिया के 20 सबसे प्रदूषित शहरों में से 14 भारत के

टिप्पणियां

जरूरत पड़ने पर प्राइवेट गाड़ियों पर पाबंदी की बात भी सोची जा रही है.ईपीसीए के चेयरमैन भूरेलाल ने कहा कि गाड़ियां ज़रूरी है या फिर जीवन ऑड-इवन कारगर नहीं है. हमें जरूरत लगी तो प्राइवेट गाड़ियों पर बैन लगाएंगे. फिलहाल तो लोग इस हवा और इसके संकटों से जूझ रहे हैं. उधर, मौसम विभाग की मानें तो दिल्ली एनसीआर में अगले एक हफ़्ते में हालात और खराब होंगे. ऐसे में दिल्लीवालों को एहतियात बरतने की जरूरत है.EPCA के चेयरमैन भूरे लाल ने कहा कि हमने दिल्ली और एनसीआर में कंस्ट्रकशन बंद किया है. ये आदेश मुख्य सचिव को भी दे दिया गया है.

VIDEO: प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए सख्त कार्रवाई की जरूरत- एससी

जो कानून का पालन नहीं करेगा उसे दंडित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जीवन ज़्यादा ज़रूरी है गाड़ियों से. लोगों को सरवाईवल के लिए गाड़ियों का त्याग करना चाहिए. ऑड और इवन कारगर नहीं है. उन्होंने कहा कि आगे जरूरत पड़ी तो हम प्राइवेट गाड़ियों को बैन करेंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement