NDTV Khabar

राजीव कुमार ने संभाला नीति आयोग के उपाध्यक्ष का पदभार

कुमार को अरविन्द पनगढ़िया की जगह उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है, जो अमेरिका के कोलंबिया विश्वविद्यालय की अपनी शिक्षक की नौकरी में लौट गए हैं. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजीव कुमार ने संभाला नीति आयोग के उपाध्यक्ष का पदभार

राजीव कुमार (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. उन्होंने कहा, 'खूब छूट पर सामान बेचे गए, इसके साथ ही उत्पादन भी गिरा.
  2. कहा, 'नीति आयोग में राज्यों के प्रशासन को भी आकार दिया जाएगा.
  3. राज्यों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे केंद्र के साथ चलें.
नई दिल्ली: अर्थशास्त्री डॉ राजीव कुमार ने जिम्मेदारी के कई पदों पर काम किया है और अपनी हर भूमिका में वे अच्छे साबित हुए हैं. अब राजीव कुमार ने नीति आयोग के उपाध्यक्ष का पदभार शुक्रवार को संभाल लिया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में आई मंदी का जिम्मेदार नोटबंदी नहीं है. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, 'नोटबंदी को जीडीपी में गिरावट के कारण के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. नकदी की कमी महज छह हफ्तों के लिए ही थी, उसके बाद से जनवरी (2017) से स्थिति में सुधार हुआ है.'

कुमार को अरविन्द पनगढ़िया की जगह उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है, जो अमेरिका के कोलंबिया विश्वविद्यालय की अपनी शिक्षक की नौकरी में लौट गए हैं. 

यह भी पढे़ं : लगातार आर्थिक कुप्रबंधन के कारण जीडीपी में आई गिरावट : सीपीएम

उन्होंने कहा कि कंपनियों द्वारा स्टॉक खाली करने से से जीडीपी गिरा है. उन्होंने कहा, 'खूब छूट पर सामान बेचे गए, इसके साथ ही उत्पादन भी गिरा. जब भी किसी अर्थव्यवस्था में सुधार किया गया है, ऐसी स्थिति देखने को मिली है.' कुमार ने कहा कि इसके लिए राज्य स्तर की शासन क्षमता भी शामिल है और उनका जोर राज्यों पर भी होगा. 
VIDEO: अर्थव्यवस्था पर चर्चा

उन्होंने कहा, 'नीति आयोग में राज्यों के प्रशासन को भी आकार दिया जाएगा. राज्यों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे केंद्र के साथ चलें. नीति निर्माण में भागीदारी की आवश्यकता होती है. लोगों के अलावा हर किसी को एक स्तर पर आना चाहिए और जो भी हासिल किया गया है, वह हमारी प्राथमिकता और विकास का अपना मॉडल होगा.' (इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement