रेप केस वापस नहीं लिया तो पीड़िता के चाचा की कर दी हत्या

फरीदाबाद के रहने वाले सोनू की तलाश में बदरपुर थाने की पुलिस की 8 टीमें बनाई गईं. पुलिस को जांच में पता चला कि मृतक पर एक शख्स रेप का केस वापस लेने के लिए दबाब बना रहा रहा था और वो हाल ही में जमानत पर बाहर आया है.

रेप केस वापस नहीं लिया तो पीड़िता के चाचा की कर दी हत्या

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

नई दिल्‍ली:

दिल्ली के बदरपुर इलाके में एक रेप के मामले में आरोपी रेप पीड़ित के चाचा पर केस वापस लेने का दबाब बना रहा था, जब ऐसा नहीं हुआ तो पीड़ित के चाचा का अपहरण कर उनकी हत्या कर दी गयी. दक्षिणी पूर्वी दिल्ली के डीसीपी चिन्मय बिस्वाल के मुताबिक दिल्ली के बदरपुर इलाके से बीती 29 मई को 34 साल के सोनू का उस वक्त अपरहण कर लिया जाता है जब वो अपनी टायर की दुकान पर जा रहा था. घात लगाए 6 किडनैपर्स ने सोनू की सैंट्रो कार को हथियार के बल पर रुकवाया और फिर अपनी इको कार में सोनू को अगवा कर उसे अलीगढ़ ले गए, जिसके बाद सोनू की गोली मार कर हत्या कर दी गई और शव को एक गड्ढे में छुपा दिया गया. लेकिन जिस समय ये अपहरण हुआ, एक ऑटो वाले ने देख लिया और उसने 100 नंबर पर पुलिस को इसकी सूचना दी थी.

फरीदाबाद के रहने वाले सोनू की तलाश में बदरपुर थाने की पुलिस की 8 टीमें बनाई गईं. पुलिस को जांच में पता चला कि मृतक पर एक शख्स रेप का केस वापस लेने के लिए दबाब बना रहा रहा था और वो हाल ही में जमानत पर बाहर आया है. मुख्य आरोपी हाल ही में एक लड़की के रेप और अपहरण के केस में जमानत पर बाहर आया था. उसका नाम परविंदर है, जिसने 2017 में सोनू की भतीजी के साथ जैतपुर इलाके में अपहरण के बाद रेप किया था. उसके बाद से ही परविंदर जेल में था. जेल से बाहर आने पर उसने केस वापस लेने का दबाब बनाया और जब बात नहीं बनी तो उसने लड़की के चाचा सोनू के कत्ल की साज़िश रच डाली. हत्या में उसके साथ 5 और लोग शामिल थे.

परविंदर ने सोनू की हत्या के बाद उसका शव अलीगढ़ में गड्ढे में डाल दिया और उसकी सैंट्रो कार को अलीगढ़ के पास ही जंगलों में जला दिया था, ताकी कोई सबूत न बच पाए. पुलिस ने परविंदर, उसके एक साथी विकी और एक नाबालिग को पकड़ लिया है. अब बाकी तीन आरोपियों की तलाश की जा रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com