NDTV Khabar

जेपी एसोसिएट्स को फ्लैट देने में देरी करने पर 10 खरीदारों को 50 लाख रुपये देने का आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने नोएडा के कल्याप्सो कोर्ट प्रोजेक्ट में फ्लैटों में देरी होने पर जयप्रकाश एसोसिएट्स को निर्देश दिए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जेपी एसोसिएट्स को फ्लैट देने में देरी करने पर 10 खरीदारों को 50 लाख रुपये देने का आदेश

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. 10 फ्लैट खरीदारों को पांच-पांच लाख रुपये का मुआवजा देना होगा
  2. जयप्रकाश एसोसिएट्स ने 2007 में प्रोजेक्ट शुरू किया था
  3. प्रोजेक्ट को साल 2011 तक पूरा करने का प्रस्ताव था
नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को जयप्रकाश एसोसिएट्स को निर्देश देते हुए कहा कि नोएडा के कल्याप्सो कोर्ट प्रोजेक्ट में फ्लैटों में देरी को लेकर 10 खरीदारों को मुआवजे के तौर पर 50 लाख रुपये का भुगतान करे.

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायाधीश अमिताव रॉय और न्यायाधीश एएम खानविलकर ने कहा कि 50 लाख रुपये डेवलपर्स टाउनशिप प्रॉपर्टी ऑनर्स वेलफेयर सोसाइटी को दिए जाएंगे, जो बाद में 10 फ्लैट खरीदारों को पांच लाख रुपये का भुगतान करेगी. यह भुगतान एक अंतरिम व्यवस्था है. फ्लैटों के सभी 10 खरीदार सोसाइटी के सदस्य हैं.

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट भी फ्लैट खरीददारों की हालत से चिंतित, कहा- आंसू नहीं देख सकते

वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल जयप्रकाश एसोसिएट्स की ओर से थे और वरिष्ठ वकील साईकृष्णा राजगोपाल 10 फ्लैट खरीदारों की ओर से सोसाइटी का प्रतिनिधित्व कर रहे थे.

यह भी पढ़ें : जेपी एसोसिएट्स 27 अक्‍टूबर तक 2000 करोड़ रुपए जमा करे : सुप्रीम कोर्ट

2 मई 2016 को, राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग (एनसीडीआरसी) ने जयप्रकाश एसोसिएट्स को फ्लैटों के वास्तविक अधिकार सौंपने की अंतिम तिथि तक 10 फ्लैट खरीदारों द्वारा जमा किए गए धन पर 12 प्रतिशत ब्याज का भुगतान करने का आदेश दिया था. इसके अलावा, एनसीडीआरसी ने जयप्रकाश एसोसिएट्स को 10 फ्लैट खरीदारों में प्रत्येक को 50,000 रुपये का भुगतान करने का निर्देश दिया था.

VIDEO : सीएम के आदेश से आस

जयप्रकाश एसोसिएट्स ने 2007 में कल्यापसो कोर्ट के प्रोजेक्ट की शुरुआत की थी, जिसमें 16 आवासीय फ्लैट बनाए जाने थे. इसे 2011 तक पूरा करने का प्रस्ताव था.
(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement