NDTV Khabar

दिल दहला देने वाला वीडियो आया सामने : अफ्रीकी नागरिक पर भीड़ ने मॉल के बीचोंबीच किया हमला

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल दहला देने वाला वीडियो आया सामने : अफ्रीकी नागरिक पर भीड़ ने मॉल के बीचोंबीच किया हमला

वीडियो में अफ्रीकी नागरिक को फर्श पर पड़े घूंसों से बचने की कोशिश करते देखा जा सकता है...

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली के निकट ग्रेटर नोएडा में अफ्रीकन नागरिकों पर हो रहे हमलों के बीच विचलित कर देने वाला एक वीडियो सामने आया है, जिसमें एक व्यक्ति को मॉल के भीतर भीड़ द्वारा लातों-घूंसों और स्टील के कूड़ेदानों से पीटा जा रहा है.

साफ मालूम देता है कि यह फुटेज ग्रेटर नोएडा के अंसल प्लाज़ा मॉल में किसी मोबाइल फोन से खींची गई थी, और इसे एसोसिएशन ऑफ अफ्रीकन स्टूडेंट्स इन इंडिया ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक पर अपलोड किया है.

केंद्र सरकार के प्रवक्‍ता ने कहा, 'ग्रेटर नोएडा में हुई कल की घटना जिसमें कई अफ्रीकी नागरिक घयल हुए, पूरी तरह से निंदनीय है. विदेश मंत्री ने यूपी के मुख्‍यमंत्री से बात की है. जिले में पुलिस अधिकारियों ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है और मामले की जांच कर रहे हैं. स्थिति को सामान्‍य बनाए रखने के लिए भी वो सभी जरूरी कदम उठा रहे हैं.

इस फुटेज में एक अफ्रीकी नागरिक को फर्श पर पड़े देखा जा सकता है, जो अपनी बांहों को अपने चेहरे के सामने फैलाकर भीड़ द्वारा बरसाए जा रहे घूंसों से बचने की कोशिश कर रहा है, और भीड़ उसे लात-घूंसों के अलावा स्टूलों, कूड़ेदानों या जो भी चीज़ हाथ आ रही है, से मार रही है. कोई भी उस अफ्रीकी नागरिक की मदद करने या हमले को रोकने की कोशिश नहीं करता है, जबकि यह हमला मॉल के ग्राउंड फ्लोर के बीचोंबीच हुआ. यह वीडियो संभवतः पहली मंज़िल से कहीं छिपकर खींचा गया लगता है.

(चेतावनी : वीडियो के दृश्य विचलित कर सकते हैं, भाषा भी संसदीय नहीं है. दर्शक अपने विवेक का उपयोग करें...)
 
 
 


अफ्रीकी नागरिकों को निशाना बनाने वाली कम से कम तीन घटनाएं हो जाने के बाद NDTV से बातचीत में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि होस्टलों तथा कॉलेजों पर सुरक्षा प्रदान कर दी गई है. दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में बनीं यूनिवर्सिटियों में बहुत-से अफ्रीकी विद्यार्थी पढ़ते हैं.

सोमवार को इसी इलाके में तीन नाइजीरियाई विद्यार्थियों पर लगभग 1,000 लोगों की भीड़ ने हमला किया था. इसके बाद एक विद्यार्थी ने विदेशमंत्री सुषमा स्वराज से माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर मदद मांगी, और 'जल्द कुछ करने' का आग्रह करते हुए कहा कि ग्रेटर नोएडा में रहना 'जान के लिए खतरे का मुद्दा' बनता जा रहा है.
 
अपने जवाब में 'त्वरित कार्रवाई' का वादा करने के बाद सुषमा स्वराज ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की, जिन्होंने, विदेशमंत्री के अनुसार, 'निष्पक्ष तथा न्यायपूर्ण' जांच करवाने का आश्वासन दिया है.
 
12वीं कक्षा के छात्र मनीष खारी की मौत के बाद विरोध मार्च निकाल रहे लोगों के एक ग्रुप ने नाइजीरियाई नागरिकों पर हमला कर उन्हें मारने-पीटने के बाद घायल हालत में सड़क पर ही पड़ा छोड़ दिया था. माना जाता है कि मनीष खारी की मौत ड्रग्स के ओवरडोज़ की वजह से हुई थी. हमलावरों का आरोप था कि इस इलाके में रहने वाले नाइजीरियाई नागरिक ही ड्रग्स के फैलाव की वजह हैं.

मिली ख़बरों के मुताबिक, पिछली रात दो अन्य नाइजीरियाई नागरिकों पर भी इसी इलाके में एक होस्टल के सामने मोटरसाइकिल पर सवार तीन नकाबपोशों ने हमला किया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement