NDTV Khabar

एक जमाना था जब अरविंद केजरीवाल भ्रष्टाचार पर यह कहा करते थे...उनके ट्वीट फिर आए सामने

सोशल मीडिया पर सवाल उठ रहे हैं कि जो पार्टी और नेता ट्विटर पर बिना किसी देरी के एक के बाद एक ट्वीट कर दूसरी पार्टी और नेताओं की नाक में दम कर देते थे वह पार्टी अब अपने ऊपर लगे आरोपों पर चर्चा तक नहीं करना चाहती है. ऐसे में सोशल मीडिया पर अरविंद केजरीवाल के पुराने ट्वीट फिर चल पड़े हैं. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एक जमाना था जब अरविंद केजरीवाल भ्रष्टाचार पर यह कहा करते थे...उनके ट्वीट फिर आए सामने

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के साथ अरविंद केजरीवाल.

खास बातें

  1. अरविंद केजरीवाल के पुराने ट्वीट फिर याद आ रहे हैं.
  2. भ्रष्टाचार पर वह क्या कहा करते थे. लोग याद दिला रहे हैं
  3. पहले वह आरोपों पर इस्तीफा और जेल भेजने की बात कहते रहे.
नई दिल्ली: आज कल दिल्ली की आम आदमी पार्टी अपने नेताओं पर भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरती जा रही है. भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को मुद्दा बनाकर राजनीति के दुनिया में कदम रखने वाली इस पार्टी ने जब दिल्ली में पहली बार पूरी ताकत के साथ सरकार बनाई तब लोगों को काफी उम्मीदें जगी थी. लेकिन पार्टी की सरकार ने गिनती के मंत्रियों में भी आधे से ज्यादा को हटाया जा चुका है. एक पर यौन शोषण का आरोप लगा, एक पर भ्रष्टाचार का, एक पर फर्जी डिग्री का और बाकियों को भी गंभीर आरोपों के चलते पद से हटाया गया. 

हालिया मामला कपिल मिश्रा कहा जिन्हें पार्टी ने आनन फानन में जल प्रबंधन सही नहीं होने का कारण बताते हुए पद से हटाया. जबकि कपिल मिश्रा कहते आ रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल के भ्रष्टाचार पर प्रश्न करने और मुद्दे को उठाने के लिए उन्हें मंत्रिपद से हटाया गया.

अरविंद केजरीवाल की पार्टी और नेताओं पर अकसर मीडिया में अन्य पार्टियों के नेताओं पर भ्रष्टाचार और अन्य आरोप लगाने की बात कही जाती है, क्योंकि पार्टी का इतिहास ऐसा ही रहा है,  लेकिन हाल के विवाद पर प्रश्नों के सही जवाब देने के बजाय पार्टी मीडिया से इन मुद्दों दूरी बनाए हुए है. अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब देने के लिए अरविंद केजरीवाल को 31 घंटे लग गए और जवाब आया सत्य की जीत होगी. 

वहीं, सोशल मीडिया पर सवाल उठ रहे हैं कि जो पार्टी और नेता ट्विटर पर बिना किसी देरी के एक के बाद एक ट्वीट कर दूसरी पार्टी और नेताओं की नाक में दम कर देते थे वह पार्टी अब अपने ऊपर लगे आरोपों पर चर्चा तक नहीं करना चाहती है. ऐसे में सोशल मीडिया पर अरविंद केजरीवाल के पुराने ट्वीट फिर चल पड़े हैं. 
 

टिप्पणियां
एक ऐसा ही ट्वीट मई 2013 का है जिसमें अरविंद केजरीवाल कह रहे हैं कि भ्रष्टाचार के लिए केवल इस्तीफा ले लिया जाना चाहिये या फिर उन्हें भ्रष्टाचार के लिए जेल भेजना चाहिए.

 
अब जब दिल्ली की राजनीति में अपने ही एक वरिष्ठ मंत्री से भ्रष्टाचार के आरोप खुद अरविंद केजरीवाल और उनके दूसरे कद्दावार मंत्री सत्येंद्र जैन पर लग रहे हैं तब लोग अरविंद केजरीवाल को उनका ही ट्वीट याद करा रहे हैं.
 
 
 
 
 
 
 
इतना ही नहीं कुछ और भी ट्वीट हैं जिन पर अब सवाल उठ रहे हैं. इन ट्वीट भी भी केजरीवाल अपने ही द्वारा लगाए गए आरोपों पर बीजेपी और कांग्रेस को कठघरे में खड़ा कर रहे हैं. इतना ही नहीं दोनों ही दलों को अपने भ्र्ष्ट नेताओं को बचाने और समर्थन के लिए लताड़ रहे हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement