NDTV Khabar

दिल्ली में कूड़े का पहाड़ बन गया, कोई सुध लेने वाला नहीं : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने मेघालय, ओडिशा, केरल, पंजाब, बिहार, छत्तीसगढ़, हिमाचल, पश्चिम बंगाल, गोवा पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. सुप्रीम कोर्ट ने यह जुर्माना 'सॉलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट रूल' को लेकर हलफनामा दाखिल न करने पर लगाया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में कूड़े का पहाड़ बन गया, कोई सुध लेने वाला नहीं : सुप्रीम कोर्ट

फाइल फोटो

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि दिल्ली में कूड़े का पहाड़ बन गया है लेकिन उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है. कोर्ट ने कहा है कि लोग डेंगू, चिकनगुनिया, और मलेरिया से मर रहे हैं लेकिन कोई राज्य सरकार इसको लेकर गंभीर नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि जब संसद द्वारा कोई भी नियम सही तरीके से लागू नही हो पाता तो देश मे कैसे लागू हो सकता है. सुप्रीम कोर्ट ने मेघालय, ओडिशा, केरल, पंजाब, बिहार, छत्तीसगढ़, हिमाचल, पश्चिम बंगाल, गोवा पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. सुप्रीम कोर्ट ने यह जुर्माना 'सॉलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट रूल' को लेकर हलफनामा दाखिल न करने पर लगाया है. पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार द्वारा दाखिल 850 पेज़ के हलफ़नामे को कहा कि ये खुद में सॉलिड वेस्ट है और हम कचरा ढोने वाले नहीं है.

कूड़े के टाइम बम पर दिल्ली : दिल्ली को फटकार लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा

अगर दिल्ली को सफाई के मामले में रोल मॉडल मानेंगे तो आप गलत हैं और ये प्रदूषण को लेकर भयावह हालात है. सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा कि ऐसे ऑफिसर भेजिए जिसको पता हो.  कोर्ट ने केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के हलफ़नामे को स्वीकार करने से इनकार कर दिया, कोर्ट ने कहा कि हम आदेश देते हैं लेकिन कोई उसे लागू नहीं करता. 

टिप्पणियां
ऐसे स्मार्ट बनेगा गाजियाबाद : कूड़े से निजात पाना बड़ी चुनौती​


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement