NDTV Khabar

दिल्ली में सीलिंग : सैकड़ों लोगों की जमा पूंजी फुटपाथ पर, दरबदर बैंक लॉकर

राजधानी में हजारों दुकानों पर ताला लग गया, कई स्थानों पर बैंकों के लॉकरों में बंद लोगों की जमा पूंजी भी सील हो गई

323 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में सीलिंग : सैकड़ों लोगों की जमा पूंजी फुटपाथ पर, दरबदर बैंक लॉकर

दिल्ली में सीलिंग की कार्रवाई के दौरान फुटपाथ पर रखे बैंक लॉकर.

खास बातें

  1. बैंकों के सैकड़ों ग्राहकों के सवालों का जवाब किसी के पास नहीं
  2. करीब सारे बैंकों के लॉकर बेसमेंट में, लोगों की परेशानी का जिम्मेदार कौन?
  3. 2021 के मास्टर प्लान को लागू किया तो लाखों इमारतें सील हो जाएंगी
नई दिल्ली: दिल्ली में सीलिंग की वजह से हजारों दुकानों पर ताला लग गया, वहीं बहुत सारी जगहों पर बैंकों के लॉकरों में बंद लोगों की जमा पूंजी भी सील हो गई है.

ओल्ड राजेंद्र नगर में बैंक के लॉकरों में करोड़ों रुपये की पूंजी जमा है. लेकिन सैकड़ों लोगों की पूंजी रखने की सबसे सुरक्षित जगह सीलिंग की वजह से फुटपाथ पर पड़ी है. गुरुवार शाम को बेसमेंट में चल रहे बैंक के लॉकरों को सील होना है, लिहाजा बेसमेंट से लाकरों को और बैंकों की नगदी को दूसरी जगह भेजा जा रहा है.

यह भी पढ़ें : एनडीएमसी और दिल्ली पुलिस का 'डंडा', खान मार्केट की 8 दुकानें सील

बैंकों के सैकड़ों ग्राहकों के सवालों का बैंक मैनेजर से लेकर सीलिंग करने वाले इंजीनियर तक के पास कोई ठोस जवाब नहीं है. ओल्ड राजेंद्र नगर में बैंक के लॉकरों के सील होने की खबर से लोग घबराए हुए हैं. इनमें हरेंद्र सिंह भी शामिल हैं जिनका इस बैंक में लॉकर करीब तीस साल से है. लोग पूछ रहे हैं कि करीब सारे बैंकों के लॉकर बेसमेंट में ही होते हैं. ऐसे में लोगों की इस परेशानी का जिम्मेदार कौन है?

इसी तरह हौजखास में कई बैंकों के लॉकरों को सील कर दिया गया है. शिव शर्मा की बिल्डिंग में बैंक कई सालों से किराए पर चल रहा है. वे कहते हैं कि सारे कानूनी दस्तावेज देखकर ही बैंक ने किराए पर लिया था. अब बेसमेंट सील कर रहे हैं.

टिप्पणियां
VIDEO : बैंक लॉकर सड़क पर

दिल्ली में करीब आठ लाख व्यवसायिक दुकानें और इमारत हैं. अगर 2021 के मास्टर प्लान को सख्ती से लागू किया गया तो लाखों इमारतें सील हो सकती हैं. ऐसे में इस समस्या का समाधान जल्द खोजना पड़ेगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement