NDTV Khabar

तिहाड़ में भूख हड़ताल पर शहाबुद्दीन, कहा- मुझे नहीं मिल रही सुविधाएं और टीवी देख रहा छोटा राजन

आरोप में शहाबुद्दीन ने कहा कि अंडरवर्ल्ड डॉन राजेंद्र सदाशिव निखलजे उर्फ छोटा राजन को टीवी, किताब तथा अन्य सुविधाएं दी जा रही हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तिहाड़ में भूख हड़ताल पर शहाबुद्दीन, कहा- मुझे नहीं मिल रही सुविधाएं और टीवी देख रहा छोटा राजन

मोहम्मद शहाबुद्दीन(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जनता दल यानी राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन ने बुधवार को तिहाड जेल प्रशासन पर सुविधाओं को लेकर आरोप लगाया है. आरोप में शहाबुद्दीन ने कहा कि अंडरवर्ल्ड डॉन राजेंद्र सदाशिव निखलजे उर्फ छोटा राजन को टीवी, किताब तथा अन्य सुविधाएं दी जा रही हैं. लेकिन वार्ड में मोजूद नीरज बबानिया और मुझे (शहाबुद्दीन) को इन सुविधाओं से वंचित रखा गया है. सूत्रों के मुताबिक तिहाड़ जेल में नीरज बबानिया शहाबुद्दीन और छोटा राजन तीनो 2 नंबर हॉई रिस्क वार्ड में बन्द है. तीनो के बैरक अलग अलग काफी दूर है. नीरज और शहाबुद्दीन का आरोप है की छोटा राजन को अंदर सुविधाएं दी जा रही हैं पर बाकी दो को नहीं. सूत्रों की माने तो इसके के चलते नीरज और शहाबुद्दीन पिछले दो दिन से खाना नहीं खा रहे हैं.

यह भी पढ़ें : SC ने सीबीआई से पूछा- शहाबुद्दीन व तेज प्रताप के साथ मोहम्मद कैफ की फ़ोटो को लेकर क्या जांच की?

टिप्पणियां
वहीं शहाबुद्दीन ने बुधवार को कोर्ट में याचिका दायर कर कहा कि जेल में 15 किलो मेरा वजन कम हो गया है. शहाबुद्दीन की याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट ने तिहाड़ जेल सुपरिटेंडेंट से जवाब मांगा है. शहाबुद्दीन ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा है कि उसे पिछले 13 महीने से तिहाड़ जेल के ऐसे हिस्से में रखा गया है, जहां न प्रकाश आता है और न ही हवा. याचिका में शहाबुद्दीन ने कहा कि उसे एकांत कारावास में रखा गया है. अब इस मामले की अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी. 

VIDEO : लालू यादव ने माना, जेल में बंद शहाबुद्दीन से होती रहती थी बातचीत​
शहाबुद्दीन ने अपनी याचिका में यह भी कहा है कि जब से उसे तिहाड़ जेल में शिफ्ट किया गया है, तब से उसका वजन 15 किलोग्राम घट गया है. शहाबु्द्दीन ने यह भी कहा कि अगर हालात ऐसे ही रहे तो उसे गंभीर बीमारियां हो सकती है. याचिका में शहाबुद्दीन ने मांग की है कि उसे एकांत कारावास से निकालकर आम कैदियों की तरह ही रखा जाए. दरअसल सुप्रीम कोर्ट पिछले साल 15 फरवरी को करीब 45 आपराधिक मामलों का सामना कर रहे मोहम्मद शहाबुद्दीन को बिहार के सीवान जेल से एक तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का आदेश दिया था. दो अलग-अलग घटनाओं में अपने तीन बेटे गंवा चुके चंद्रकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू और आशा रंजन ने याचिका दायर कर राजद नेता को तिहाड़ जेल में रखने का आग्रह किया था. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश दिया था. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement