किसानों की हड़ताल से राजधानी दिल्ली समेत इन इलाकों में बाधित हो सकती है सब्जी और खाद्य पदार्थों की आपूर्ति 

किसानों की हड़ताल की वजह से सब्जियों, फलों और अन्य खाद्य सामग्रियों से भरे ट्रक की संख्या में कमी आई है.

किसानों की हड़ताल से राजधानी दिल्ली समेत इन इलाकों में बाधित हो सकती है सब्जी और खाद्य पदार्थों की आपूर्ति 

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

किसानों की देशव्यापी हड़ताल का असर अब दिल्ली समेत आसपास के इलाकों में पर दिखने लगा है. इस हड़तला की वजह से आने वाले दिनों दिल्ली और एनसीआर के अलग-अलग इलाकों में फल, सब्जी और अन्य खाद्य पदार्थों की आपूर्ति पर असर पड़ सकता है. दिल्ली की सबसे बड़ी मंडी में से एक आजादपुर मंडी के अध्यक्ष आदिल खान ने बताया कि किसानों की हड़ताल की वजह से सब्जियों, फलों और अन्य खाद्य सामग्रियों से भरे ट्रक की संख्या में कमी आई है. उन्होंने कहा कि यदि आने वाले दिनों में किसानों की हड़ताल खत्म नहीं हुई तो हालात और भी बदतर हो सकते हैं. उन्होंने बताया कि दिल्ली की मंडियों में फिलहाल तो खाद्य सामग्रियों का स्टॉक है लेकिन आने वाले दिनों में इसकी किल्लत हो सकती है.

यह भी पढ़ें: कृषि मंत्री का विवादित बयान, कहा- मीडिया में आने के लिए प्रदर्शन करते हैं किसान

अगर यह हड़ताल अगले कुछ दिनों तक चलता है तो दिल्ली आने वाले फल और सब्जी की खेप में कमी आ सकती है. गौरतलब है कि देश के कई राज्यों के किसानों ने शुकव्रार से 10 दिन का गांव बंद बुलाया है. देशभर के कई किसान संगठनों ने लंबे समय से अपनी मांगों को नहीं माने जाने के विरोध में बंद बुलाया है. इस बंद में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब समेत कई राज्यों के किसान शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: मंदसौर गोलीकांड की बरसी: राहुल की रैली का डर? 1200 लोगों को दिया गया नोटिस

इनकी मुख्य मांग है कि इनकी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य इन्हें दिया जाए. साथ ही फलों और सब्ज़ियों का भी न्यूनतम मूल्य तय किया जाए. किसान लंबे समय से दूध की न्यूनतम क़ीमत 27 रुपये लीटर करने की मांग कर रहे हैं. बंद के दौरान किसान कई जगह घेराव करेंगे. साथ ही वे रैलियां भी निकालेंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: किसान हड़ताल से बढ़ेगी समस्या.

इस हड़ताल से दूध, फल सब्ज़ियों की सप्लाई पर असर पड़ रहा है. दिल्ली की अलग-अलग मंडियों में सब्ज़ी की सप्लाई कम हुई है जिससे क़ीमत बढ़ना तय माना जा रहा है. तो साफ़ है इसका असर राजधानी दिल्ली की मंडियों पर भी देखने को मिलेगा.(इनपुट भाषा से)