रास्ता खुलवाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगी शाहीन बाग की महिलाएं

सड़क पर रास्ता खुलवाने को लेकर दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 17 फरवरी को सुनवाई करेगा.

रास्ता खुलवाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगी शाहीन बाग की महिलाएं

शाहीन बाग की महिलाएं सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगी.

खास बातें

  • शाहीन बाग की महिलाएं सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगी
  • रास्ता खुलवाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर है याचिका
  • सीएए के खिलाफ चल रहा है प्रदर्शन
नई दिल्ली:

शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ धरना प्रदर्शन लगातार जारी है. यहां सड़क पर रास्ता खुलवाने को लेकर दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 17 फरवरी को सुनवाई करेगा. अब इस सुनवाई के दौरान शाहीन बाग में प्रदर्शनकारी महिलाएं भी अपना पक्ष रखने की तैयारी कर रही हैं. प्रदर्शन में वॉलंटियर की भूमिका निभा रहे सोनू वारसी ने कहा, "जैसे शाहीन बाग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई है और शाहीन बाग की तरफ से कोई पार्टी नहीं है. महमूद प्राचा अपने आपको लीगल अथॉरिटी बनाकर पेश कर रहे हैं, जोकि गलत है. न ही उनके पास यहां का वकालतनामा है और न ही अन्य कुछ. यहां जो मुख्य चेहरा है, वो हैं यहां की महिलाएं. हम सुप्रीम कोर्ट में भी महिलाओं को आगे रखेंगे, जिनमें से चुनिंदा दादियां यानी दबंग दादियां होंगी."

क्या शाहीन बाग की वजह से बंद हुई सड़कें या फिर राजनीति है इसकी वजह? पढ़ें, ग्राउंड रिपोर्ट

उन्होंने कहा, "शाहीन बाग ने तय किया है कि अब हम अपना लीगल पक्ष सुप्रीम कोर्ट मे रखेंगे. इसके लिए तैयारी की जा रही है. जो भी हमारा लीगल पैनल होगा, दादियों के साथ पेश होगा. फिलहाल सभी प्रक्रियाओं पर काम किया जा रहा है और जल्द ही इसकी जानकारी दी जाएगी." अधिवक्ता अनस तनवीर सिद्दीकी शाहीन बाग की तरफ से अपना पक्ष रखेंगे.

देखें Video: खबरों की खबर : शाहीन बाग में अव्‍यवस्‍था की बैरिकेडिंग!


 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com