NDTV Khabar

900 साल पुरानी 12वीं सदी की गौतमबुद्ध की मूर्ति बरामद, 2 गिरफ्तार

पुलिस ने जब आरोपियों को पकड़ा तो पता चला कि आरोपी मोनेस्ट्री प्रमुख चीपा की बेटी का पूर्व पति था जिसने तलाक का बदला लेने के लिए इस चोरी को अंजाम दिया था.

858 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
900 साल पुरानी 12वीं सदी की गौतमबुद्ध की मूर्ति बरामद, 2 गिरफ्तार

इस मूर्ति को चोरी कर दिल्ली में महज़ 1 करोड़ 40 लाख में बेचा जा रहा था

नई दिल्‍ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 900 साल पुरानी 12वीं सदी की गौतम बुद्ध की बेशकीमती मूर्ति बरामद कर 2 लोगों को गिरफ्तार किया है. ये मूर्ति तवांग से चुराई गई थी. 12वीं सदी की गौतम बुद्ध की ये मुर्ति अनमोल है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत 20 करोड़ से भी ज्यादा है. पुलिस के मुताबिक इसे 31 मई को तवांग की एक मोनेस्ट्री से चोरी कर लिया गया. तब मोनेस्ट्री के प्रमुख अपने परिवार के साथ कुल्लू गए थे. इस मूर्ति को चोरी कर दिल्ली में महज़ 1 करोड़ 40 लाख में बेचा जा रहा था.

इस मूर्ती की तवांग में खास मान्यता है, लिहाजा इसके चोरी होने से मोनेस्ट्री के अलावा पूरे अरुणाचल प्रदेश में खलबली मच गई. इसी बीच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को अरुणाचल प्रदेश की पुलिस से इनपुट मिला कि कुछ लोग दिल्ली के मजनूं का टीला इलाके में कुछ लोग एक मूर्ति बेचने की फिराक में हैं.

पुलिस ने जब आरोपियों को पकड़ा तो पता चला कि आरोपी मोनेस्ट्री प्रमुख चीपा की बेटी का पूर्व पति था जिसने तलाक का बदला लेने के लिए इस चोरी को अंजाम दिया था. बहरहाल आरोपी नवांग शुंदे और उसकी एक महिला साथी लोबशैंग शेरपा को दिल्ली पुलिस मूर्ति समेत अरुणाचल प्रदेश भेज रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement