JNU : जनमत संग्रह में 93 फीसद शिक्षकों ने कुलपति को हटाने के पक्ष में वोट डाला

JNU के 90 फीसद से अधिक शिक्षकों ने एक जनमत संग्रह में कुलपति जगदीश कुमार को हटाने की मांग के पक्ष में वोट डाला.

JNU : जनमत संग्रह में 93 फीसद शिक्षकों ने कुलपति को हटाने के पक्ष में वोट डाला

JNU के 90 फीसद से अधिक शिक्षकों ने एक जनमत संग्रह में कुलपति जगदीश कुमार को हटाने की मांग के पक्ष में वोट डाला

नई दिल्ली :

जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय (JNU) के 90 फीसद से अधिक शिक्षकों ने एक जनमत संग्रह में कुलपति जगदीश कुमार को हटाने की मांग के पक्ष में वोट डाला. जेएनयू टीचर्स एसोसिएशन ने एक बयान में कहा कि बाहरी पर्यवेक्षकों की निगरानी में हुआ यह जनमत संग्रह बताता है कि वर्तमान कुलपति को अपने पद पर नहीं रहना चाहिए. इसने कहा , ‘‘जेएनयू शिक्षकों के 93 फीसद हिस्से ने जनमत संग्रह में कुलपति के विरोध में मतदान किया’’. एसोसिएशन ने कहा, ‘‘जेएनयू के 586 सूचीबद्ध शिक्षकों में से 300 वोट डालने पहुंचे. उनमें से 279 ने कुलपति को हटाये जाने के पक्ष में वोट डाला’’. इसने वर्तमान प्रशासन पर भय का माहौल पैदा करने तथा अकादमिक मुद्दों पर असंतोष प्रकट करने पर खास शिक्षकों को निशाना बनाने का आरोप लगाया. 

जेएनयू के 'टैंक' की मांग पर जामिया के कुलपति बोले, हमारे यहां पहले से 'मिग' लगा है 

आपको बता दें कि जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय (JNU) में प्रो. जगदीश कुमार की बतौर कुलपति नियुक्ति के बाद से ही इसका विरोध हो रहा है. तमाम शिक्षक इसके विरोध में हैं. तो दूसरी तरफ छात्र संगठन भी लगातार तमाम मसलों पर विरोध करते आए हैं. उन्होंने आरोप लगाया है कि कुलपति कई नीतियों को छात्रों पर थोपते रहे हैं. छात्रों द्वारा कुलपति से बदसलूकी का मामला भी सामने आ चुका है. (इनपुट-भाषा) 

Newsbeep

कुलपति से बदसलूकी : जेएनयू के 24 छात्रों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: बड़ी ख़बर: हाईकोर्ट ने JNU को दिखाया आईना