दिल्ली: त्रिनगर से AAP उम्मीदवार जितेंद्र सिंह तोमर का टिकट कटा, पत्नी प्रीति तोमर होंगी प्रत्याशी

दिल्ली की त्रिनगर विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी (AAP) के उम्मीदवार जितेंद्र सिंह तोमर का टिकट काटकर उनकी पत्नी प्रीति तोमर को उम्मीदवार बनाया गया है.

खास बातें

  • त्रि नगर से AAP उम्मीदवार जितेंद्र सिंह तोमर का टिकट कटा
  • फर्जी डिग्री मामले में दिल्ली HC के आदेश के बाद काटा गया टिकट
  • अब त्रि नगर से उनकी पत्नी प्रीति तोमर उम्मीदवार होंगी
नई दिल्ली:

NDTV संवाददाता के अनुसार, दिल्ली की त्रिनगर विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी (AAP) के उम्मीदवार जितेंद्र सिंह तोमर का टिकट काटकर उनकी पत्नी प्रीति तोमर को उम्मीदवार बनाया गया है. दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को फर्ज़ी डिग्री मामले में जितेंद्र सिंह तोमर को अयोग्य घोषित किया था. जितेंद्र सिंह तोमर ने पिछले विधानसभा चुनाव के समय खुद को लॉ ग्रेजुएट बताया था, जबकि उनकी डिग्री फर्ज़ी थी. अरविंद केजरीवाल सरकार में मंत्री रह चुके जितेंद्र सिंह तोमर को जून, 2015 में पुलिस ने गिरफ्तार किया था और उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ा था.

बता दें कि आम आदमी पार्टी ने त्रि नगर से अपने मौजूदा विधायक और आगामी चुनाव में उम्मीदवार जितेंद्र सिंह तोमर का टिकट काट दिया है. अब त्रि नगर से आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार जितेंद्र सिंह तोमर की पत्नी प्रीति तोमर होंगी. प्रीति तोमर ने त्रि नगर से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर सोमवार को पर्चा दाखिल कर दिया.

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आखिर क्यों नहीं उतारा BJP और कांग्रेस ने कोई बड़ा चेहरा?

दरअसल शुक्रवार को फर्जी डिग्री मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने जितेंद्र सिंह तोमर की विधायकी रद्द कर दी थी. जितेंद्र सिंह तोमर पर आरोप था कि उन्होंने अपने चुनावी हलफनामे में खुद को लॉ ग्रेजुएट घोषित किया है जबकि जांच में पाया गया कि उनकी डिग्री फर्जी है इसलिए दिल्ली हाईकोर्ट ने उनको अयोग्य घोषित कर दिया.

जितेंद्र सिंह तोमर फरवरी 2015 में केजरीवाल सरकार में कानून मंत्री बने थे, लेकिन जून 2015 में दिल्ली पुलिस ने उनको फर्जी डिग्री मामले में गिरफ्तार कर लिया जिसके बाद उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था.

जितेंद्र सिंह तोमर का टिकट काटने पर आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि क्योंकि तोमर पर हाई कोर्ट का फैसला आ गया था और आने वाले समय में विपक्ष इसको लेकर हम पर आरोप लगा सकता था इसलिए पार्टी ने फैसला किया है की तोमर की जगह उनकी पत्नी उम्मीदवार होंगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर बोले- इन कायरों को देखो, 31 केंद्रीय मंत्रियों को जम्मू और सिर्फ 5 को कश्मीर भेजा...

जितेंद्र सिंह तोमर ने एनडीटीवी इंडिया से बात करते हुए कहा, ''कौन चुनाव लड़ेगा कौन नहीं यह पार्टी का फैसला है. जहां तक बात मेरे केस की है तो मुझ पर हाईकोर्ट ने चुनाव लड़ने की कोई रोक नहीं लगाई.'' असल में आम आदमी पार्टी का कहना है कि एक विधायक के तौर पर जितेंद्र सिंह तोमर का अपने इलाके में काम अच्छा रहा है लेकिन क्योंकि दिल्ली हाईकोर्ट का फैसला है कि जितेंद्र सिंह तोमर ने अपने हलफनामे में झूठ बोला था इसलिए एक बीच का रास्ता निकालते हुए आम आदमी पार्टी ने तोमर की पत्नी को अपना उम्मीदवार बनाया है.