NDTV Khabar

आप नेता संजय सिंह ने कहा- दिल्ली के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ नहीं होगा गठबंधन

आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता संजय सिंह का कहना है कि अगले साल की शुरुआत में होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव में ‘आप’ और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला होगा और कांग्रेस प्रतिस्पर्धा में ही नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आप नेता संजय सिंह ने कहा- दिल्ली के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ नहीं होगा गठबंधन

संजय सिंह

खास बातें

  1. संजय सिंह ने दिल्ली के विधानसभा चुनावों पर दिया बड़ा बयान
  2. कहा- ‘आप’ और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला, कांग्रेस प्रतिस्पर्धा में नहीं
  3. कहा- दिल्ली में लोगों ने हमारा काम देखा है और वे इससे खुश हैं
नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता संजय सिंह (Sanjay Singh) का कहना है कि अगले साल की शुरुआत में होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव में ‘आप' (AAP) और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला होगा और कांग्रेस प्रतिस्पर्धा में ही नहीं है. सिंह ने उन खबरों को दरकिनार कर दिया कि कांग्रेस हरियाणा की तरह चुनाव में छुपा रुस्तम साबित हो सकती है और कड़ा मुकाबला दे सकती है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में स्थिति ‘‘पूरी तरह अलग'' है. आप के सांसद सिंह ने दावा किया कि दिल्ली में कोई कांग्रेस का जिक्र भी नहीं करता और उसे दिल्ली में होने वाले चुनावों में प्रतिद्वंद्वी भी नहीं समझा जा सकता.

आप नेता संजय सिंह बोले- दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने पर सहयोग की बजाए जश्न मनाती है भाजपा

उन्होंने ‘पीटीआई' को दिए एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘दिल्ली में लोगों ने हमारा काम देखा है और वे इससे खुश हैं. वे इसके आधार पर ही मतदान करेंगे.'' सिंह ने विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन करने की संभावनाओं को नकार दिया. आगामी चुनाव को लेकर ‘आप' के एजेंडे के बारे में पूछे जाने पर राउत ने कहा कि पिछले पांच साल में ‘आप' सरकार अपनी योजनाओं के जरिए समाज के हर वर्ग तक पहुंची, भले ही वह बच्चों एवं युवाओं के कल्याण के लिए शिक्षा हो, बुजुर्गों के लिए तीर्थ यात्रा हो, बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा हो या उनकी सुरक्षा के लिए सीसीटीवी लगाने की योजना हो.


सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर की गुमशुदगी के दिल्ली में लगे पोस्टर, आखिर क्या है पूरा मामला?

टिप्पणियां

उन्होंने कहा, ‘‘यह दर्शाता है कि हम सभी को आगे ले जाने पर विचार करते है. यही वे एजेंडे हैं, जिन्हें सरकार सत्ता में आने के बाद आगे लेकर जाएगी.'' यह पूछे जाने पर कि क्या दिल्ली में अनधिकृत कॉलोनियों के नियमन संबंधी केंद्र की हालिया घोषणा भाजपा के लिए पासा पलट सकती है, सिंह ने कहा कि यह भगवा दल का एक और ‘‘जुमला'' है. 

उन्होंने कहा कि यदि भाजपा इस कदम के लिए गंभीर है तो वह इसके लिए अध्यादेश ला सकती थी ‘‘लेकिन ऐसा नहीं किया गया. यह ‘जुमले' के अलावा और कुछ नहीं है.''
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement