अरविंद केजरीवाल सरकार के PWD विभाग के दफ्तर पर एसीबी का छापा

अरविंद केजरीवाल सरकार के PWD विभाग के दफ्तर पर एसीबी का छापा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

खास बातें

  • BRT कॉरिडोर तोड़ने में कथित भ्रष्टाचार की शिकायत पर हुई कार्रवाई
  • बीजेपी ने ACB में सरकार और ठेका पाने वाली कंपनियों पर लगाया था आरोप
  • ACB ने बिना FIR दर्ज किए की कार्रवाई, फाइलें भी जब्त कीं : दिल्ली सरकार
नई दिल्ली:

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार के लोक निर्माण विभाग यानी PWD विभाग के दफ्तर पर एंटी करप्शन ब्रांच (ACB) ने छापा मारा है। ACB ने ये कार्रवाई BRT कॉरिडोर तोड़ने के मामले में हुए कथित भ्रष्टाचार के बीजेपी नेताओं की शिकायत पर की है।

सोमवार को ही बीजेपी नेता विवेक गर्ग और विधायक ओमप्रकाश शर्मा ने एसीबी में शिकायत की थी कि करीब सवा छह किलोमीटर लंबे BRT कॉरिडोर को तोड़ने में दिल्ली सरकार ने करीब 11 करोड़ रुपये खर्च किए, जबकि इस कॉरिडोर में लगा समान ही इतने मूल्य का था कि सरकार को पैसे चुकाने नहीं बल्कि वसूलने चाहिए थे। यह सरकार और ठेका पाने वाली कंपनियों की मिलीभगत के चलते हुआ है।

दिल्ली सरकार के सूत्रों का कहना है कि इस मामले में एसीबी ने कोई एफआईआर दर्ज किए बिना हड़बड़ी में कार्रवाई की है और PWD दफ़्तर से फाइलें भी ज़ब्त की हैं। इस घटना पर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि कुख्यात BRT में पहला हथौड़ा मैंने मारा था। जनता की मांग को पूरा करने के लिए हम फख्र से जेल जाने को तैयार हैं।

सिसोदिया ने तल्ख अंदाज में केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, 'जनता के तमाचे को नहीं समझते, अदालत के तमाचे को नहीं समझते, हिम्मत है तो हम सबको जेल भेज दीजिए मोदी जी! फिर भी सच को रोक नहीं सकेंगे।'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com