दिल्ली महिला आयोग के दफ्तर पर एसीबी का छापा, भर्ती को लेकर मिली थी शिकायत

दिल्ली महिला आयोग के दफ्तर पर एसीबी का छापा, भर्ती को लेकर मिली थी शिकायत

स्वाति मालीवाल (फाइल फोटो)

खास बातें

  • बरखा शुक्ला ने स्वाति मालीवाल पर लगाए हैं गंभीर आरोप
  • भर्तियों से जुड़ा है मामला
  • पूर्व मुख्य सचिव उमेश सहगल ने भी की शिकायत थी
नई दिल्ली:

दिल्ली महिला आयोग के दफ्तर पर एसीबी ने छापा मारा है. छापा भर्ती में एक शिकायत के आधार पर मारा गया है. दिल्ली महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष बरखा शुक्ला सिंह ने दिल्ली महिला आयोग की अध्य़क्ष स्वाति मालीवाल पर भर्तियों में भाई-भतीजा वाद का आरोप लगाया है.

दिल्ली महिला आयोग की चेयरमैन स्वाति मालीवाल के खिलाफ दो शिकायतें करीब 15 दिन पहले एंटी करप्शन ब्रांच को मिली थीं, जिसके आधार पर एसीबी की एक टीम ने गुरुवार सुबह 10.30 बजे दिल्ली महिला आयोग के दफ्तर छापा मारा. करीब 4 घंटे तक एसीबी की टीम ने दिल्ली महिला आयोग के मेंबर सक्रेटरी पीपी ढल से पूछताछ की और साथ में कई फाइलों को खंगाला.

बरखा सिंह  (पूर्व चेयरमैन दिल्ली महिला आयोग) ने डीसीडब्यू में लगी नौकरी में फेवरिज्म करने की शिकायत की थी. दूसरी शिकायत पूर्व मुख्य सचिव उमेश सहगल ने की थी.

बरखा ने स्वाति मालीवाल पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि 85 लोगों की नियुक्ति की गई, जिसमें एक आम आदमी पार्टी से जुड़े सुप्रीम कोर्ट के वकील की बेटी को भी नौकरी दी गई. 85 लोगों को दी जाने वाली नौकरी में 10 हजार से लेकर 1 लाख रुपये तक की तनख्वाह दी गई. योग्यता का कोई पैमाना नहीं रखा गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उमेश सहगल ने स्वाति मालीवाल पर आरोप लगाया कि एक महिला की छोटी शिकायत के आधार पर उनकी पुलिस में शिकायत करवाई गई, जिससे उनकी प्रतिष्ठा को धक्का पहुंचा.