NDTV Khabar

प्रदूषण को लेकर बड़े फैसले: डीज़ल जेनरेटरों पर पाबंदी, आवाज देकर सवारी बुलाने पर जुर्माना

दिल्ली में डीज़ल जेनरेटरों पर रोक लगा दी गई है. फिलहाल यह रोक मार्च तक के लगाई गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रदूषण को लेकर बड़े फैसले: डीज़ल जेनरेटरों पर पाबंदी, आवाज देकर सवारी बुलाने पर जुर्माना

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है

खास बातें

  1. पड़ोसी राज्यों में धान की पराली जलाने से दिल्ली में प्रदूषण
  2. कोर्ट ने डीज़ल जेनरेटरों के इस्तेमाल पर लगाई है रोक
  3. दिल्ली सरकार ने ध्यनि प्रदूषण के भी तय किए नए मानक
नई दिल्ली: दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार के साथ-साथ कोर्ट ने भी कड़े फैसले लिए हैं. कोर्ट ने पहले तो दीपावली पर पटाखों की बिक्री पर रोक लगाई थी, अब डीज़ल जेनरेटरों पर रोक लगा दी गई है. फिलहाल यह रोक मार्च तक के लगाई गई है. इसके अलावा राज्य सरकार ने ध्वनि प्रदूषण के लिए कई नियम लागू किए गए हैं.

बढ़ते प्रदूषण को लेकर सरकार से एजेंसी तक सब हरकत में हैं. दिल्ली सरकार ने ध्वनि प्रदूषण पर जुर्माना लगाया है. बदरपुर पावर प्लांट भी बंद किया गया है. वहीं जल्द ही, दिल्ली के 17 इलाकों की जगह 37 इलाकों का प्रदूषण स्तर ऑनलाइन होगा. 

 पढ़ें: दिल्ली की हवा में घुलता जहर, आगे हालात और होंगे खराब

बस का हार्न बजा और जेब से ड्राइवर साहब के 500 रुपए गए. अंतर्राज्यीय बस अड्डों में बढ़ते ध्वनि प्रदूषण को लेकर दिल्ली सरकार ने आदेश जारी किया है कि कैंपस के अंदर हार्न बजाने पर 500 और कंडक्टर द्वारा आवाज लगाकर सवारी बुलाने पर 100 रुपया जुर्माना भरना पड़ेगा. 

पढ़ें: हरियाणा और पंजाब से सामने आने लगीं पराली जलाने की घटनाएं, दिल्ली-एनसीआर की चिंता बढ़ी

टिप्पणियां
बता दें कि दिल्ली में प्रदूषण का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है. दिल्ली सरकार ने इस गंभीर समस्या पर ध्यान देते हुए सबसे पहले वाहनों की संख्या कम करने के लिए ऑड-इवन सिस्टम लागू किया था, लेकिन यह फार्मूला पूरी तरह से काम नहीं कर पाया. इसके बाद राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए दिल्ली में दस साल से ज्यादा पुराने डीजल वाहनों पर बंदिश लगाई. हालांकि इन फैसलों के नतीजे उम्मीद के मुताबिक नहीं मिल पाए. 

VIDEO: दिल्ली : आईएसबीटी पर हॉर्न बजाने पर अब लगेगा जुर्माना
पिछले साल दीपावली पर आतिशबाजी जलाने और दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में धान की पराली जलाने से दिल्ली में प्रदूषण के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए थे. कई दिनों तक आसमान में धुएं की धुंध छाई रही. पिछले अनुभव को देखते हुए इस बार सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा कदम उठाते हुए दीपावली पर पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी थी. पटाखों के बाद अब जेनरेटर और ध्वनि प्रदूषण को लेकर उठाए गए कदम निश्चित ही दिल्लीवासियों को कुछ राहत जरूर प्रदान करेंगे. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement