NDTV Khabar

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक, सरकार जो मास्क बांट रही है वह कारगर नहीं: AIIMS

दिल्ली में प्रदूषण बेहद ख़तरनाक स्तर तक पहुंच चुका है. शनिवार की सुबह प्रदूषण का स्तर 500 दर्ज किया गया. इससे पहले शुक्रवार को कई जगह एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 500 के पार पहुंच गया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक
  2. शनिवार की सुबह प्रदूषण का स्तर 500 दर्ज किया गया
  3. AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कही ये बात
नई दिल्ली:

दिल्ली में प्रदूषण बेहद ख़तरनाक स्तर तक पहुंच चुका है. शनिवार की सुबह प्रदूषण का स्तर 500 दर्ज किया गया. इससे पहले शुक्रवार को कई जगह एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 500 के पार पहुंच गया था. यानी दिल्ली में इमरजेंसी जैसे हालात हो चुकी है, जिसके मद्देनज़र दिल्ली सरकार ने 5 नवंबर तक सभी स्कूल बंद करने का ऐलान किया है. शुक्रवार से दिल्ली सरकार ने मुफ़्त मास्क बांटना भी शुरू कर दिया. इस बीच ऑड ईवन के लिए दफ्तरों के टाइम बदल दिये गये हैं. AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने NDTV से बात कर दिल्ली में फैले प्रदूषण के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी है.

दिल्ली के इस एरिया में एयर क्वालिटी इंडेक्स 500 के पार, हेल्थ एमरजेंसी घोषित, जानिए बचने के तरीके

रणदीप गुलेरिया ने कहा, ''AIIMS की OPD और IPD में मरीज़ 20% बढ़ गई है. प्रदूषण बेहद ख़तरनाक स्थिति में है. बच्चों, बुज़ुर्गों, गर्भवती महिलाओं के अलावा सेहतमंद लोग पर भी प्रभाव पड़ने लगा है.'' मास्क को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा, ''मास्क प्रदूषण से बचाने के लिए कारगर नहीं है. N95 मास्क जो सरकार बांट रही है उससे बचाव नहीं. ये ढीला रहता है अगल बगल से प्रदूषण जाता रहता है. मास्क को बहुत टाइट रखना होगा. आप ज़्यादा टाइट रखेंगे तो आपका दम घुटेगा, इसलिए मास्क कारगर नहीं है. हमे प्रदूषण ख़त्म करना होगा.''


हरियाणा के फतेहाबाद में पराली जलाने से रोकने आए अधिकारियों को किसानों ने बनाया बंधक

टिप्पणियां

सुझाव में रणदीप में बताया कि लोगों को मॉर्निंग या इवनिंग वॉक बंद करना चाहिए. ज्यादा बाहर नहीं रहना चाहिए. काफ़ी लोग दिल्ली से बाहर चले गए हैं. हर व्यक्ति की सेहत पर प्रभाव पड़ रहा है.

बताते चले कि प्रदूषण के इस स्तर को देख दिल्ली में हेल्थ एमरजेंसी घोषित कर दी गई है. लोधी रोड एरिया में पीएम2.5 (PM2.5) और पीएम10 (PM10) दोनों ही 500 पाए गए. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने 1 नवंबर को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस खतरनाक प्रदूषण की वजह पंजाब और हरियाणा में जलती पराली को बताया. साथ ही प्रदूषण को कम करने के पहल में ऑड-ईवन (Odd-Even) के बारे में भी चर्चा की. दिल्ली में 4 नवंबर सोमवार से 12 दिन तक वाहनों को सम-विषम के आधार पर चलाने की योजना जारी रहेगी. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement