NDTV Khabar

वायु प्रदूषण: उल्लंघन पर 99,000 से ज्यादा चालान कटे, 14 करोड़ रूपये का जुर्माना

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (DPCC), दिल्ली राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड, लोक निर्माण विभाग, जिला मजिस्ट्रेटों और नगर निगमों द्वारा गठित 300 दलों ने कचरा फेंकने-जलाने, मलबा डालने और निर्माण गतविधियों जैसे उल्लंघन की जांच के लिए 19,100 निरीक्षण किए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वायु प्रदूषण: उल्लंघन पर 99,000 से ज्यादा चालान कटे, 14 करोड़ रूपये का जुर्माना

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. वायु प्रदूषण रोकने के लिए बनाए गए नियमों का उल्लंघन करने पर हुई कार्रवाई
  2. निर्माण गतविधियों जैसे उल्लंघन की जांच के लिए 19,100 निरीक्षण किए
  3. विभिन्न एजेंसियों ने 13.99 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया
नई दिल्ली:

दिल्ली में वायु प्रदूषण रोकने के लिए बनाए गए नियमों का उल्लंघन करने वालों पर 14 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया और 99,202 चालान काटे गए. बता दें, आधिकारिक आंकड़ों में इसका ब्यौरा दिया गया है. दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (DPCC), दिल्ली राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड, लोक निर्माण विभाग, जिला मजिस्ट्रेटों और नगर निगमों द्वारा गठित 300 दलों ने कचरा फेंकने-जलाने, मलबा डालने और निर्माण गतविधियों जैसे उल्लंघन की जांच के लिए 19,100 निरीक्षण किए.

दिल्ली के वायु प्रदूषण के सुधार में मौसम ने दिया साथ, मंगलवार को प्रदूषण में दिखी गिरावट

इस बारे में एक सरकारी अधिकारी ने बताया, ‘विभिन्न एजेंसियों ने 13.99 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया. विशेष अभियान के तहत नगर निगमों और लोक निर्माण विभाग ने 16 अक्टूबर से 29,044 मीट्रिक टन निर्माण मलबा उठाया.' DPCC ने पीडब्ल्यूडी, केंद्रीय लोक निर्माण विभाग, एनबीसीसी लिमिटेड और दिल्ली विकास प्राधिकरण जैसे विभिन्न सरकारी एजेंसियों को प्रमुख निर्माण स्थलों पर धूल नियंत्रण मानदंडों के उल्लंघन के लिए दंडित किया है.


Delhi Pollution: प्रदूषण से निपटने के लिए PMO ने की समीक्षा बैठक, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

टिप्पणियां

बयान में कहा गया कि पिछले 15 दिन में उल्लंघन करने वालों ने 57 लाख रुपए जमा कराए हैं. DPCC द्वारा धूल को नियंत्रित करने के दिशा-निर्देश के उल्लंघन के लिए रेडी मिक्स कंक्रीट प्लांट पर भारी जुर्माना लगाया गया.

VIDEO: दिल्ली में प्रदूषण 'इमरजेंसी स्तर' के भी पार



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement