NDTV Khabar

दिल्ली में इस साल पहली बार ठीक हुई हवा की 'सेहत', प्रदूषण वाले कण खत्म हुए

दिल्ली में इस साल पहली बार वायु गुणवत्ता ‘अच्छी’ हुई है, जिसका कारण लगातार हो रही बारिश है. इसकी वजह से हवा में मौजूद प्रदूषक कण खत्म हो गए हैं.  

295 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में इस साल पहली बार ठीक हुई हवा की 'सेहत', प्रदूषण वाले कण खत्म हुए

दिल्ली में इस साल पहली बार हवा की स्थिति अच्छी हुई है.

नई दिल्ली :

दिल्ली में इस साल पहली बार वायु गुणवत्ता ‘अच्छी’ हुई है, जिसका कारण लगातार हो रही बारिश है. इसकी वजह से हवा में मौजूद प्रदूषक कण खत्म हो गए हैं.  अधिकारियों ने यह जानकारी दी. केंद्र सरकार द्वारा संचालित एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (सफर) के वैज्ञानिक गुफरान बेग ने कहा कि नयी दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 43 पर दर्ज किया गया. आपको बता दें शून्य से 50 के बीच के एक्यूआई को ‘‘अच्छा’’, 51 से 100 को ‘‘संतोषजनक’’, 101 से 200 को ‘‘मध्यम’’, 201-300 को ‘‘खराब’’, 301-400 को ‘‘बहुत खराब’’ और 401 से 500 को ‘‘गंभीर’’ माना जाता है. पीएम 10 स्तर (10 मिलीमीटर से कम व्यास वाले कणों की मौजूदगी) दिल्ली - राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 39 और दिल्ली में 32 के साथ ‘‘ अच्छा ’’ दर्ज किया गया. 

दिल्ली की हवा में बढ़ी धूल, जानें शरीर के किस हिस्से को पहुंच सकता है नुकसान  


केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली - राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पीएम 2.5 स्तर (2.5 मिलीमीटर से कम व्यास वाले कणों की मौजूदगी) 39 जबकि दिल्ली में 21 दर्ज किया गया. बेग ने कहा कि मानसून के कारण शहर में स्वच्छ नमी से भरी हवा के कारण वायु गुणवत्ता बेहतर हुई है। दिल्ली के लोगों ने पहली बार इस साल ‘‘ अच्छी ’’ गुणवत्ता वाली हवा में सांस ली है. 


दिल्‍ली-NCR में सांस लेना हुआ मुश्किल, एयर क्वालिटी 'खतरनाक' स्‍तर के पार, 15 जून तक रहेंगे ऐसे ही हालात  

टिप्पणियां

VIDEO : दिल्ली में खतरनाक प्रदूषण

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement