NDTV Khabar

विधानसभा में बोले केजरीवाल, 'अगर बीजेपी दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाए तो उसके लिए प्रचार करूंगा'

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से एलजी दिल्ली छोड़ो कैंपेन की शुरुआत करते हुए केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार और पीएमओ लगातार हमारे काम को ठप करने की कोशिश कर रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विधानसभा में बोले केजरीवाल, 'अगर बीजेपी दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाए तो उसके लिए प्रचार करूंगा'

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

खास बातें

  1. केजरीवाल ने 'एलजी दिल्ली छोड़ो' कैंपेन शुरू किया है
  2. 'केंद्र सरकार लगातार हमारे काम को ठप करने की कोशिश कर रही है'
  3. 'लोग अपने अधिकार, भविष्य और विकास के लिए लड़ें'
नई दिल्ली: दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग कर रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को विधानसभा में कहा कि अगर बीजेपी दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देती है तो वो उसके लिए प्रचार करेंगे, दिल्ली का एक-एक वोट उसे मिलेगा. लेकिन अगर ये मांग पूरी नहीं की तो यही जनता बीजेपी से दिल्ली छोड़ने को कहेगी. पूर्ण राज्य के लिए सरकार की प्रस्तावना पर चर्चा के दौरान सदन में उन्होंने कहा अगर केंद्र ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं दिया तो, यहां के लोग भाजपा को राष्ट्रीय राजधानी छोड़ने के लिए कह सकते हैं. उन्होंने कहा, "2019 के आम चुनाव से पहले दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दें और हम लोगों को भाजपा के लिए वोट देने के लिए कहेंगे. दिल्ली का प्रत्येक वोट फिर भाजपा का होगा, नहीं तो दिल्ली के लोगा भाजपा को दिल्ली से जाने के लिए कहेंगे." प्रस्तावना बिना विरोध के ही सदन में पारित हो गया. उन्होंने लोगों से उनके अधिकार, भविष्य और विकास के लिए लड़ने का आग्रह किया और दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग की.

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पूर्ण राज्य की मांग को लेकर एलजी दिल्ली छोड़ो कैंपेन शुरू कर दिया. दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से कैंपेन की शुरुआत करते हुए केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार और पीएमओ लगातार हमारे काम को ठप करने की कोशिश कर रही है. एजेंसी को पीछे छोड़कर हमें काम करने से रोका जा रहा है. 

'आप’ के वार्ड स्तरीय पदाधिकारियों एवं विधायकों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने की लड़ाई स्वतंत्रता संघर्ष की तरह है. केजरीवाल ने कहा कि महात्मा गांधी ने ब्रिटिश शासन के दौरान भारत छोड़ो आंदोलन शुरू किया था और अब आम आदमी पार्टी ‘एलजी दिल्ली छोड़ो’ अभियान शुरू करेगी. उन्होंने कहा कि 1947 में भारत को आजादी मिली और सभी ब्रिटिश वायसराय हटा दिए गए, लेकिन दिल्ली में एलजी (उप - राज्यपाल) को वायसराय की जगह नियुक्त कर दिया गया.

अपने अभियान के पहले चरण के बारे में केजरीवाल ने कहा कि ‘आप’ के नेता, विधायक और कार्यकर्ता 17 जून से 24 जून तक राष्ट्रीय राजधानी में 300 जगहों पर सभाएं करेंगे. दूसरे चरण में ‘आप’ ने एक जुलाई को इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम में पार्टी कार्यकर्ताओं का सम्मेलन आयोजित करने की योजना बनाई है जहां आगे के कदम पर फैसला किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने बैठक के बाद ट्वीट किया, ‘आप’ की दिल्ली इकाई के वार्ड स्तरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक हुई. दिल्ली के घर - घर में पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने का मुद्दा लेकर जाने की रणनीति बनाई.’’ अगले साल के लोकसभा चुनावों से पहले ‘आप’ ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के मुद्दे को अपना प्रमुख हथियार बनाया है.

केजरीवाल ने कहा कि कई लोग कह रहे हैं कि पिछले 1 साल में मैंने कुछ नहीं बोला, इसका नाजायज़ फ़ायदा उठाया गया, लेकिन अब बोलना होगा. आए दिन हम पर नए-नए केस दर्ज होते हैं. प्रधानमंत्री और अमित शाह ये तो बताएं कि पहले के केसों का क्या हुआ. एलजी को हमारे ख़िलाफ़ हथियार बनाया गया. 

टिप्पणियां
उन्‍होंने कहा कि मोहल्‍ला क्‍लीनिक को रोकने की कोशिश की जा रही है. स्‍कूल और कॉलेज के निर्माण को रोकने की कोशिश की जा रही है. राशन की डिलीवरी को रोकने की कोशिश की जार रही है. जब से हमारी सरकार बनी है तभी से केन्‍द्र सरकार और पीएमओ अलग-अलग तरीके से दिल्‍ली पुलिस, आईएएस ऑफिसर, ईडी, इनकम टैक्‍स सारी एजेंसियां को पीछे छोड़ा हुआ है कि इनको कम करने से रोको. 

VIDEO: केजरीवाल का 'एलजी दिल्ली छोड़ो' कैंपेन


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement