NDTV Khabar

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 10 दिन की छुट्टी पर, विपश्यना के लिए जाएंगे नासिक

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने कामकाज से 10 दिन की छुट्टी लेकर मेडिटेशन करने जा रहे हैं.

1.6K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 10 दिन की छुट्टी पर, विपश्यना के लिए जाएंगे नासिक

अरविंद केजरीवाल पिछले एक दशक से भी अधिक समय से विपश्यना के लिए जाते रहे हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 10 दिन के विपश्यना के लिए अरविंद जा रहे हैं नासिक
  2. उनकी अनुपस्थिति में मनीष सिसोदिया संभालेंगे दिल्ली की कमान
  3. लंबे समय से जा रहे हैं विपश्यना के ध्यान योग शिविरों में
नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने कामकाज से 10 दिन की छुट्टी लेकर मेडिटेशन करने जा रहे हैं. मेडिटेशन के लिए वे नासिक स्थित विपश्यना शिविर में 10 दिन रहेंगे. उनकी गैर मौजूदगी में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया उनका कामकाज संभालेंगे. 

यह भी पढ़ें: देखें विपश्यना अरविंद केजरीवाल की कितनी मदद कर पाती है...

अरविंद केजरीवाल का विपश्यना से पुराना नाता है. जब वे राजनीति में भी नहीं थे, सूचना के अधिकार कानून पर काम रहे थे, तभी से वे और उनके साथी मनीष सिसोदिया ध्यान योग के लिए अलग-अलग जगहों पर विपश्यना शिविरों में जाते रहे हैं. अरविंद खुद को नई ऊर्जा से भरने के लिए हर साल विपश्यना जाते हैं. इससे पहले वे हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में गए थे. इसके अलावा प्राकृतिक चिकित्सा में भी अरविंद की गहरी रूचि है. इसके लिए वे बेंगलुरु के नेचुरोपैथी सेंटर जाते रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: अरुण जेटली मानहानि मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने अरविंद केजरीवाल पर लगाया 5000 रुपये जुर्माना

विपश्यना वह ध्यान योग शिविर है जहां के नियम बहुत कड़े होते हैं. यहां साधक रोजमर्रा के जीवन, अपने परिवार और बाहरी दुनिया की हर ख़बर से दूर हो जाता है. इन शिविरों में किसी को आपस में बात करने की इजाजत नहीं होती है. शिविर में जाने वाले बताते हैं कि दो दिन बाद आपकों यह भी पता नहीं चल पाता है कि आज दिन कौन सा है. किसी तरह के सूचना संपर्क जैसे मोबाइल, अखबार, टीवी आदि का इस्तेमाल यहां नहीं किया जाता है. 

VIDEO:केजरीवाल सरकार ने अपनी ही पार्टी को दिया नोटिस
विपश्यना साधना मन का व्यायाम है. जैसे शारीरिक व्यायाम से शरीर को स्वस्थ बनाया जाता है वैसे ही विपश्यना से मन को स्वस्थ बनाया जा सकता है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement