NDTV Khabar

रविदास मंदिर मामले में बोले भीम सेना प्रमुख चंद्रशेखर, मेरे साथ साजिश हुई है

हिरासत में भेजे गए चंद्रशेखर ने कहा कि उनके साथ साजिश हुई है. पुलिस कस्टडी में बस पर चढ़ते हुए उन्होंने कहा कि हम बाबा साहेब के समर्थक हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रविदास मंदिर मामले में बोले भीम सेना प्रमुख चंद्रशेखर, मेरे साथ साजिश हुई है

चंद्रशेखर आजाद (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

रविदास मंदिर गिराए जाने के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शन में भीम सेना के प्रमुख चंद्रशेखर समेत 96 लोगों को पुलिस ने दंगा भड़काने और मारपीट समेत कई धाराओं में मामला दर्ज करके गिरफ्तार किया है. कोर्ट ने इन सभी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. बुधवार को रविदास मंदिर को गिराए जाने के खिलाफ प्रदर्शन करने पहुंची भीड़ ने अचानक हिंसक रुप अख्तियार कर लिया. एक घंटे तक अराजक तत्वों मे कहीं बाइक जलाई तो कहीं गाड़ियों को तोड़ा. भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को आंसू गैस और बल प्रयोग करना पड़ा.  

100 से ज्यादा वाहन तोड़े, पुलिस पर किया हमला, भीम आर्मी के चीफ सहित 91 अरेस्ट

सुबह सौ से ज्यादा गाड़ियां टूटी मिली और बीस से ज्यादा लोग घायल. डरे सहमें लोग अपनी आपबीती अब सुना रहे हैं. अब इस जगह पर चारदीवारी बनाकर यहां भारी पैमाने पर पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स तो तैनात कर दिया गया है. कालकाजी थाने में भारी पैमाने पर पुलिस फोर्स तैनात है. बता दें कि तोड़फोड़ के मामले में 96 लोगों गिरफ्तार किया है इसमें 55 लोग हरियाणा से और 20 से ज्यादा लोग पंजाब से हैं. हिंसा के मामले में हुई इतनी बड़ी गिरफ्तारी के बाद कालका जी थाने को ही कोर्ट रुम में तब्दील कर दिया गया.  


टिप्पणियां

‘रविदास मंदिर' गिराए जाने के खिलाफ दलित समुदाय के हजारों लोगों ने किया प्रदर्शन

साकेत कोर्ट से कालका जी थाने में आए जज के सामने 96 लोगों को पेश किया गया जिन्हें 14 दिन के न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. वहीं न्यायिक हिरासत में भेजे गए चंद्रशेखर ने कहा कि उनके साथ साजिश हुई है. पुलिस कस्टडी में बस पर चढ़ते हुए उन्होंने कहा कि हम बाबा साहेब के समर्थक हैं. हम हिंसा में विश्वास नहीं करते हैं मेरे साथ साजिश हुई है. फिलहाल संत रविदास मंदिर के आसपास के इलाके में हालात शांतिपूर्ण बने हुए हैं, लेकिन संत रविदास मंदिर को तोड़े जाने के खिलाफ दलित संगठनों का गुस्सा अभी ठंडा नहीं पड़ा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement