दिल्ली में अतिक्रमित सरकारी जमीन पर निर्मित मस्जिदों को ध्वस्त किया जाएगा: भाजपा सांसद

सांसद प्रवेश वर्मा ने कहा, ‘लेकिन सरकरी जमीन पर कोई मंदिर, गुरुद्वारा मिलता नहीं है. केवल मस्जिद ही सरकारी जमीन पर मिलती है और सरकारी जमीन पर मस्जिद होगी तो उसका टूटना निश्चित है.’

दिल्ली में अतिक्रमित सरकारी जमीन पर निर्मित मस्जिदों को ध्वस्त किया जाएगा: भाजपा सांसद

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • दिल्ली में अतिक्रमित सरकारी भूमि पर निर्मित मस्जिदों को ध्वस्त किया जाएगा
  • पश्चिमी दिल्ली के सांसद ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण के मुद्दे पर कहा
  • कोई भी मंदिर या गुरुद्वारा सरकारी भूमि पर नहीं पाया जाता है
नई दिल्ली:

भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने सोमवार को कहा कि दिल्ली में अतिक्रमित सरकारी भूमि पर निर्मित मस्जिदों को ध्वस्त किया जाएगा. पश्चिमी दिल्ली के सांसद ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण के मुद्दे पर एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि उन्होंने इस मुद्दे को पिछले साल उठाया था. वर्मा ने कहा कि उन्होंने पहले कहा था कि अगर कोई उनसे मंदिर या गुरुद्वारों के निर्माण के लिए सरकारी भूमि पर अतिक्रमण की शिकायत करता है तो वह उपराज्यपाल को कार्रवाई के लिए पत्र लिखेंगे.

हालांकि कोई भी मंदिर या गुरुद्वारा सरकारी भूमि पर नहीं पाया जाता है, केवल मस्जिदें सरकारी भूमि पर पाई जाती हैं. उन्होंने कहा, ‘लेकिन सरकरी जमीन पर कोई मंदिर, गुरुद्वारा मिलता नहीं है. केवल मस्जिद ही सरकारी जमीन पर मिलती है और सरकारी जमीन पर मस्जिद होगी तो उसका टूटना निश्चित है.'

Delhi Election 2020: AAP, कांग्रेस के उम्मीदवारों की पहली सूची 14 जनवरी से पहले आने की उम्मीद

इसके अलावा दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले सोमवार को निगरानी दल ने अर्जुन नगर में एक व्यापारी से 49 लाख रुपये से अधिक जब्त किए. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि चुनाव निगरानी दल ने कृष्णा नगर निर्वाचन क्षेत्र में पड़ने वाले क्षेत्र में नियमित निरीक्षण के दौरान ये रुपये जब्त किए. जिला निर्वाचन अधिकारी (पूर्व) के कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में अधिकारियों ने कहा कि व्यवसायी ने दावा किया है कि वह एक व्यावसायिक उद्देश्य के लिए 49.16 लाख रुपये ले जा रहा था. दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मतदान आठ फरवरी को होगा, जबकि मतगणना 11 फरवरी को होगी.

Newsbeep

VIDEO: दिल्ली में बीजेपी की बाइक रैली में उड़ी ट्रैफिक नियम की धज्जियां

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)