NDTV Khabar

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा ब्लू व्हेल गेम का मामला, खूनी खेल पर रोक की गुहार

मदुरई के रहने वाले एडवोकेट पोन्नियम ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर मांग की है कि कोर्ट जानलेवा ब्लू व्हेल गेम पर रोक लगाए. 

9 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुप्रीम कोर्ट पहुंचा ब्लू व्हेल गेम का मामला, खूनी खेल पर रोक की गुहार

ब्लू व्हेल गेम के चक्कर में कई बच्चे मौत को गले लगा चुके हैं

खास बातें

  1. तमिलनाडु के वकील ने सुप्रीम कोर्ट ने दायर की अपील
  2. दिल्ली हाईकोर्ट में भी लंबित है गेम पर रोक का मामला
  3. बढ़ता ही जा रहा है देश में इस खूनी खेल का असर
नई दिल्ली: ब्लू व्हेल गेम का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. मदुरई के रहने वाले 73 साल के एडवोकेट पोन्नियम ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर मांग की है कि कोर्ट जानलेवा ब्लू व्हेल गेम पर रोक लगाए. पोन्नियम ने अपनी याचिका में कहा है कि ब्लू व्हेल गेम को लेकर अलग-अलग अदालतों में मुकदमे चल रहे हैं लेकिन अभी तक इस पर रोक नही लग पाई है. जिसकी वजह से बच्चों द्वारा आत्महत्या किए जाने के मामले बढ़ते जा रहे हैं.

पढ़ें: खूनी खेल 'ब्लू व्हेल चैलेंज' के बचने के लिए ले सकते हैं हेल्पलाइन की मदद

पोन्नियम ने अपनी याचिका में ये भी कहा है कि कोर्ट सभी राज्य सरकारों को आदेश दे कि वे लोगों के बीच इस खेल को लेकर सामाजिक जागरुकता फैलाएं.

पढ़ें: रोते हुए बोली ब्लू व्हेल गेम की शिकार लड़की, मैं झील में नहीं कूदी तो मेरी मम्मी मर जाएगी

एक ऐसा ही मामला दिल्ली हाईकोर्ट में भी लंबित है जिसमें ब्लू व्हेल गेम पर रोक लगाने की मांग की गई है. गुरमीत सिंह ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर मांग की है कि इंटरनेट की बड़ी कंपनियों को तत्काल ब्लू व्हेल चैलेंज से संबंधित किसी भी सामग्री को अपलोड करने से रोका जाए. इस गेम के ऑनलाइन लिंक को गूगल, फेसबुक और अन्य वेबसाइटों से हटाने के लिए मांग भी की गई है.

ब्लू व्हेल चैलेंज गेम में यूजर्स को सोशल मीडिया के जरिए 50 दिन में कुछ चैलेंज को पूरा करने के टास्क दिए जाते हैं जिसमें अंतिम टास्क में यूजर्स को सुसाइड जैसा चैलेंज दिया जाता है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement