NDTV Khabar

दिल्ली में बड़ा हादसा, चाइनीज़ मांझे की चपेट में आने से सिविल इंजीनियर की मौत

15 अगस्त को जब पूरा देश 73वें स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन के जश्न में डूबा था, उसी दिन दिल्ली में एक भाई अपनी 2 बहनों को लेकर स्कूटी से जा रहा था तभी रास्ते में चाइनीज़ मांझे की चपेट में आने से उसकी मौत हो गयी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में बड़ा हादसा, चाइनीज़ मांझे की चपेट में आने से सिविल इंजीनियर की मौत

मानव शर्मा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

15 अगस्त को जब पूरा देश 73वें स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन के जश्न में डूबा था, उसी दिन दिल्ली में एक भाई अपनी 2 बहनों को लेकर स्कूटी से जा रहा था तभी रास्ते में चाइनीज़ मांझे की चपेट में आने से उसकी मौत हो गयी. मृतक पेशे से सिविल इंजीनियर था. पुलिस के मुताबिक बाहरी दिल्ली में 15 अगस्त को दोपहर करीब एक बजे पश्चिम विहार इलाके में 30 साल का मानव शर्मा अपनी 2 बहनों नेहा और मोनिका के साथ घर से स्कूटी पर सवार होकर कहीं जा रहा था. मानव जैसे ही एलीवेटेड रोड पर पहुंचा तभी पतंग उड़ाने वाला मांझा उसकी गर्दन में फंस गया, जिससे उसकी गर्दन में गहरा ज़ख्म हो गया. पुलिस का कहना है कि मानव को पास के अस्पताल में ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. मृतक मानव शर्मा की बहन मोनिका शर्मा ने बताया कि हम अपने घर से बुध विहार, हरि नगर की तरफ जा रहे थे और जैसे ही फ्लाई ओवर पर हमारी स्कूटी पहुंची, तभी मांझा गले मे फंस गया.  

टिप्पणियां

अब देश में नहीं उड़ेंगे चीनी मांझे लगे पतंग, एनजीटी ने लगाई रोक


भाई के गले से खून बहने लगा. हम रोड से गुजर रहे लोगों से मदद मांग रहे थे, लेकिन कोई हमारी मदद को आगे नहीं आया. तभी एक महिला ने कार रोकी, वो मेरे भाई को हॉस्पिटल लेकर गई. वहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया है. हमनें रक्षा बंधन पर राखी नही नहीं बांधी थी, बस घर पहुंचकर राखी बांधने वाले थे, तभी ये हादसा हो गया. दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता मंदीप सिंह रंधावा के मुताबिक दिल्ली में इस तरह के मांझे पर पूरी तरह से प्रतिबंध है. हर साल इसे लेकर केस दर्ज करते हैं. इस बार अभी तक इस तरह के मांझे को लेकर दिल्ली के अलग अलग इलाकों में 17 केस दर्ज किए गए हैं. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement