NDTV Khabar

अरविंद केजरीवाल से ट्विटर पर भिड़े केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी, दिया उन्हीं के अंदाज में यह जवाब

केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप पुरी ने ट्विटर पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सवालों और आरोपों का विस्तार से जवाब दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अरविंद केजरीवाल से ट्विटर पर भिड़े केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी, दिया उन्हीं के अंदाज में यह जवाब

अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अरविंद केजरीवाल से ट्विटर पर भिड़े केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी
  2. दिया उन्हीं के अंदाज में दिया यह जवाब
  3. दिल्ली मेट्रो के किराए को लेकर शुरू हुई थी बहस
नई दिल्ली: केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप पुरी ने ट्विटर पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सवालों और आरोपों का विस्तार से जवाब दिया है. हरदीप पुरी के जवाब की सबसे बड़ी खासियत यह है कि वह हिंदी में दिया गया है, जबकि आमतौर पर देखा जाता है कि केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी अपने ट्वीट अंग्रेजी में करते हैं. कुल छह ट्वीट करके हरदीप पुरी ने अरविंद केजरीवाल के आरोप और सवालों का जिस तरह जवाब दिया गया है वह बिल्कुल वही अंदाज है जो अरविंद केजरीवाल अपनाते हैं. दरअसल, बीते 2 दिन से दिल्ली मेट्रो पर आई सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट(CSE) की रिपोर्ट पर चर्चा चल रही है, जिसमें कहा गया कि हाल किराया बढ़ोतरी के बाद दिल्ली मेट्रो दुनिया की दूसरी सबसे महंगी मेट्रो बन गई है, जिसको लेकर सबसे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दुख जताया और कहा कि 'यह बड़ा दुखी करने वाला है कि दिल्ली मेट्रो दुनिया की दूसरी सबसे महंगी मेट्रो बन गई है और आम लोगों की पहुंच से दूर हो गई है'. 

अपनी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से किनारा कर की शत्रुघ्न सिन्हा AAP की रैली में गए

इसी पर जब अखबार में खबर छपी, जिसमें केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने कहा था कि 'मेट्रो की बजाय दिल्ली की परिवहन प्रणाली पर गौर करें केजरीवाल' तो केजरीवाल ने शुक्रवार 7 सितम्बर को ट्वीट कर कहा कि 'सर, मेट्रो भी तो हम दिल्ली के लोगों की है ना. क्या मेट्रो का किराया बढ़ना ठीक है? सारी दुनिया कह रही है कि किराया घटना चाहिए तो मान भी जाइए ना. हम बसें ख़रीदने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. दिल्ली हाईकोर्ट ने बसों की ख़रीद पर स्टे लगा दिया है. स्टे हटवाने की कोशिश कर रहे हैं'.
अरविंद केजरीवाल के इसी ट्वीट के जवाब देते हुए हरदीप पूरी ने 6 हिंदी के ट्वीट किए और कहा, 'माननीय मुख्यमंत्री @ArvindKejriwal जी, यह मेरा सौभाग्य है कि आपके शासनकाल में मुझे, पहले एक सामान्य नागरिक और अब एक केंद्रीय मंत्री के रूप में, अपने शहर दिल्ली एवं देश की जनता की सेवा का अवसर प्राप्त हुआ है! निःसंदेह दिल्ली मेट्रो दिल्ली के लोगों की लोकप्रिय सवारी है. सर, रही बात मेट्रो के किराये की तो सर मेरा बस इतना निवेदन है कि जब 2016 में FFC ने ये प्रस्ताव रखा था, तब दिल्ली सरकार के प्रतिनिधि ने इसको मंज़ूरी दी थी. इसलिए इसको लेकर आपका गुस्सा और दुख कुछ समझ में नहीं आया सर.'

केजरीवाल का यशवंत सिन्हा से आग्रह - आप लोकसभा चुनाव लड़िए!

इसके बाद हरदीप पूरी ने केजरीवाल से दिल्ली अलावा आसपास के शहरों और कस्बों से यानी NCR से दिल्ली आने जाने वालों पर भी ध्यान देने को कहा. पूरी ने मेट्रो फेज 4, डीटीसी और RRTS यानी रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (एक परिवहन प्रणाली जिससे दिल्ली के आसपास के इलाकों को दिल्ली से संतुलित तरीके से जोड़ा जा सके) पर भी ध्यान देने को कहा. पूरी ने लिखा कि यह विश्व-स्तरीय सेवा न केवल हमारे शहर का गौरव है बल्कि दुनिया इसकी समयबद्धता एवं उत्कृष्टता का लोहा मानती है. सर, विनती है कि आप दिल्ली के बहनों-भाइयों के साथ आसपास से आने वाले लोगों की ओर भी ध्यान दें जो प्रतिदिन मेट्रो से ही आते जाते हैं. RRTS से इन्हें भी लाभ पहुंचेगा. 
 
लोकसभा चुनाव के लिए BJP की तर्ज पर आम आदमी पार्टी का प्लान, 2.5 लाख ‘ब्लॉक प्रमुखों’ की नियुक्ति करेगी AAP

टिप्पणियां
दिल्ली जैसा विशाल शहर केवल एक साधन पर निर्भर नहीं रह सकता. हमें मेट्रो के साथ डीटीसी एवं RRTS पर भी ध्यान देना होगा.  सर, मेट्रो में 29 लाख लोग यात्रा करते हैं. उन क्षेत्रों की आबादी जहां मेट्रो सेवा नहीं है अब भी डीटीसी पर निर्भर है. इसलिए मैं डीटीसी को लेकर थोड़ा चिंतित था. सर, डीटीसी एवं वर्तमान मेट्रो के साथ साथ अगर हम मेट्रो फेज-IV एवं RRTS को भी त्वरित स्वीकृति दे दें तो हम दिल्ली वासियों के जीवन में और भी बदलाव आ जायेगा और हमें काम पर जाने के लिए निजी वाहनों का प्रयोग नहीं करना पड़ेगा. 

VIDEO: दिल्ली : मोहल्ला क्लिनिक को मिली तारीफ
लेकिन अंत मे जो छठा ट्वीट हरदीप पूरी ने किया वो पढ़कर आपको अरविंद केजरीवाल का अंदाज़ याद आ जायेगा और आप खुद कहेंगे कि पूरी साहब केजरीवाल बनकर ही केजरीवाल को साधने में लगे हैं. उन्होंने अपने अंतिम ट्वीट में लिखा, 'इससे सड़कों पर जाम कम होगा और पर्यावरण पर भी अवश्य इसका अच्छा असर दिखेगा. सर, आशा करता हूं इस बार आप मेरे सुझाव और विनती का बुरा नहीं मानेंगे. इस शहर में पला-बढ़ा होने के नाते आपसे दिल की बात कह दी. अब मान भी जाइए ना'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement