NDTV Khabar

अनियमित कॉलोनियों को नियमित करने के केंद्र के फैसले का CM केजरीवाल ने किया स्वागत

केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली की अनियमित कॉलोनियों को नियमित करने के ऐलान के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम इस फैसले का स्वागत करते हैं. हम लंबे समय से इसकी लड़ाई लड़ रहे थे. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अनियमित कॉलोनियों को नियमित करने के केंद्र के फैसले का CM केजरीवाल ने किया स्वागत

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल.

खास बातें

  1. सीएम केजरीवाल ने केंद्र को कहा धन्यवाद
  2. बोले, हम लंबे समय से इसकी लड़ाई लड़ रहे थे
  3. अब सारे काम तेजी से होने चाहिए
नई दिल्ली :

केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली की अनियमित कॉलोनियों को नियमित करने के ऐलान के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि हम इस फैसले का स्वागत करते हैं. हम लंबे समय से इसकी लड़ाई लड़ रहे थे. इसके लिए केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा करते हैं. उन्होंने कहा कि हमने प्रस्ताव 2015 में भेजा था और लगातार केंद्र सरकार के संपर्क में थे. 24 जुलाई 2019 को ड्राफ्ट पर अपने सुझाव दिए थे. हालांकि हमारे पास अभी सारे डिटेल्स नहीं हैं, जब आएंगे तो आपको बताएंगे. अब आगे देरी ना हो, आगे के कदम भी जल्द उठाये जाएं. हाथ मे रजिस्ट्री आने पर ही लोग मानेंगे कि कॉलोनी पक्की हुई है. हमने नियमित होने का इंतज़ार किये बिना 5 साल में 6 हज़ार करोड़ इन कॉलोनी में निवेश किया. पानी, सीवर, सड़क नालियां बनवाई हैं. 

केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अनियमित कॉलोनियां होंगी नियमित


टिप्पणियां

आपको बता दें कि  केंद्र सरकार ने दीवाली से ठीक पहले दिल्ली (Delhi) की अनियमित कॉलोनियों के निवासियों को बड़ा तोहफा देने का निर्णय लिया है. केंद्रीय कैबिनेट ने दिल्ली की अनियमित कॉलोनियों को नियमित करने का फैसला लिया है. दिल्ली में कुल 1797 अनियमित कॉलोनी हैं. सरकार के इस फैसले से इन कॉलोनियों में रहने वाले करीब 40 लाख लोगों को लाभ मिलेगा. हालांकि तीन कॉलोनियां नियमित नहीं होंगी. इसमें सैनिक फार्म, महेंद्रू इन्क्लेव और अनंतराम डेयरी शामिल हैं. बताया जा रहा है कि ये अनियमित कॉलोनियां सरकारी जमीन, खेती की जमीन और ग्राम सभा की जमीन पर बनी हैं. कॉलोनियों को नियमित करने के दौरान सर्कल रेट का कुछ प्रतिशत रेग्यूलरेजाइशेन फ़ीस के तौर पर लिया जाएगा. 

VIDEO: रबी की फसलों की MSP बढ़ाने की तैयारी में केंद्र सरकार



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement