नए पेट्रोल पंप स्कूलों, अस्पतालों, मकानों से हो 50 मीटर दूरी: CPCB

राष्ट्रीय हरित अधिकरण के निर्देशों के आलोक में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने पिछले सप्ताह नए कुछ दिशा-निर्देश जारी किए.

नए पेट्रोल पंप स्कूलों, अस्पतालों, मकानों से हो 50 मीटर दूरी: CPCB

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • पर्यावरण पर प्रतिकूल असर पड़ने को लेकर चिंतित है प्रदूषण बोर्ड
  • तेल विपणन कंपनियों को सुनिश्चित करने को कहा
  • स्कूलों, अस्पतालों और रिहाइशी इलाके से 50 मीटर दूर हो पेट्रोल पंप
नई दिल्ली:

पेट्रोल पंप से पर्यावरण पर प्रतिकूल असर पड़ने को लेकर चिंतित देश के शीर्ष प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) ने तेल विपणन कंपनियों को सुनिश्चित करने को कहा है कि पेट्रोल पंप स्कूलों, अस्पतालों और रिहाइशी इलाके से कम से कम 50 मीटर की दूरी पर होने चाहिए. राष्ट्रीय हरित अधिकरण के निर्देशों के आलोक में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने पिछले सप्ताह नए कुछ दिशा-निर्देश जारी किए. तेल कंपनियों को ऐसे नए पेट्रोल पंपों पर वैपर रिकवरी सिस्टम (VRC) भी लगाने का निर्देश दिया है, जहां प्रति महीने 300 किलो लीटर मोटर स्प्रिट बिकने की संभावना है.

निर्देश में कहा गया कि VRC नहीं लगाने पर राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड VRC की कीमत के समतुल्य पर्यावरण हर्जाना लगाएगा और पालन नहीं करने पर उसी अनुपात में हर्जाना बढ़ता जाएगा. आईआईटी कानपुर, राष्ट्रीय पर्यावरण अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (नीरी), टेरी, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय और सीपीसीबी के सदस्यों वाली एक विशेषज्ञ समिति ने देश में नए पेट्रोल पंप लगाने के लिए दिशानिर्देश तय किए हैं. एनजीटी के निर्देश पर विशेषज्ञ कमेटी का गठन किया गया था. निर्देश के मुताबिक, खुदरा विक्रय केंद्र स्कूल, अस्पतालों (10 बेड या अधिक) और रिहाइशी इलाके से 50 मीटर के दायरे में नहीं होने चाहिए.
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com