NDTV Khabar

सेंट स्टीफन कॉलेज के प्रोफेसर का रेलवे ट्रैक के पास मिला सिर कटा शव, घर पहुंची पुलिस तो पंखे से लटकी मिली मां

एक वरिष्ठ पुलिस ने अधिकारी ने बताया कि इस बात की आशंका है कि एलन ने पहले अपनी मां की हत्या की है और बाद में ट्रेन से कटकर जान दे दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सेंट स्टीफन कॉलेज के प्रोफेसर का रेलवे ट्रैक के पास मिला सिर कटा शव, घर पहुंची पुलिस तो पंखे से लटकी मिली मां

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

दिल्ली विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर का शव रेलवे ट्रैक के पास से मिलने से सनसनी फैल गई. दिल्ली पुलिस के अनुसार शव दो टुकड़ों में था. पुलिस ने शव की पहचान एलन स्टैनले के रूप में की है. पुलिस की जांच में पता चला है कि एलन दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफन कॉलेज में प्रोफेसर थे. हैरान करने वाली बात यह है कि एलन का शव मिलने के बाद जब पुलिस उनके घर पहुंची तो उनके फ्लैट में उनकी मां का शव भी पंखे से लटका हुआ मिला. एक वरिष्ठ पुलिस ने अधिकारी ने बताया कि इस बात की आशंका है कि एलन ने पहले अपनी मां की हत्या की है और बाद में ट्रेन से कटकर जान दे दी. हालांकि, उन्होंने कहा कि जांच पूरी होने तक कुछ भी साफ तौर कह पाना गलत होगा. हमारी कई टीमें इस मामले की जांच में जुटी हैं.

घर में मिला ISRO वैज्ञानिक का शव, पुलिस ने हत्या का जताया शक, जांच शुरू


बता दें कि एलन की पहचान उनकी जेब से मिले आईडी कार्ड व अन्य कागजात से हुई थी. पुलिस को एलन के शव के पास से मोबाइल फोन भी मिला था. पुलिस अधिकारी ने बताया कि एलन मूल रूप से केरल के रहने वाले हैं और दिल्ली के रानी बाग इलाके में एक फ्लैट में रहते थे. 

16lhm8ioडीसीपी आउटर के मुताबिक कल पीतमपुरा के आशियाना अपार्टमेंट के एक फ्लैट में एक 55 साल की महिला पंखे से लटकी मिली उसके मुंह मे कपड़ा ठूसा हुआ था. महिला की पहचान लिसी के तौर पर हुई है. इस बीच जानकारी मिली की महिला का 27 साल का बेटा जो की सेंट स्टीफन कॉलेज में प्रोफेसर था उसका भी शव सराय रोहिल्ला रेल्वे ट्रैक के पास से मिला है. जांच में पता चला है की मां बेटे के खिलाफ केरल में आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज है. और दोनो मां- बेटे अग्रिम जमानत पर थे. 

खर्चों के लिए गर्लफ्रेंड पर निर्भर था बेरोजगार ब्वायफ्रेंड, तंग आकर लड़की ने भाई-जीजा के साथ मिलकर कराई हत्या

गौरतलब है कि इस तरह की यह कोई पहली घटना नहीं है. कुछ दिन पहले ही भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के नेशनल रिमोट सेंसिंग सेंटर (NRSC) से जुड़े एक वैज्ञानिक की उनके अपार्टमेंट में शव मिला था. घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था. पुलिस की शुरुआती जांच में यह पूरा मामला हत्या का लग रहा था लेकिन जांच पूरी होने के बाद ही इसे लेकर साफ तौर पर कुछ कहा जा सकेगा. मृतक वैज्ञानिक की पहचान 56 वर्षीय एस सुरेश के रूप मे की थी. बता दें कि एस सुरेश मूल रूप से केरल के रहने वाले थे और वह अपने फ्लैट में अकेले रहते थे. जांच में पता चला है कि मंगलवार को वह ऑफिस नहीं गए थे. और उन्होंने ऑफिस न आने की कोई सूचना भी नहीं दी थी, जिसके चलते उनके सहयोगी ने उन्हें फोन किया, जिसका जवाब न मिलने पर बाद में इसकी सूचना सुरेश की पत्नी को दी गई. बता दें कि उनकी पत्नी चेन्नई के एक बैंक में काम करती थी. 

Chandrayaan 2: विक्रम लैंडर से संपर्क की खत्‍म हो रही उम्‍मीदों के बीच चंद्रयान-2 को लेकर आया इसरो प्रमुख का बड़ा बयान

एस सुरेश  के सहयोगियों से मिली जानकारी के बाद उनकी पत्नी इंदिरा परिवार के दूसरे सदस्यों के साथ प्लैट पर पहुंचीं तो उन्होंने वहां सुरेश को मृत पाया, जिसके बाद इंदिरा ने पुलिस को सूचना दी थी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू की और पाया कि सुरेश को सिर पर किसी भारी चीज से मारा गया था. बाद में शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. 

नोबेल पुरस्कार विजेता वैज्ञानिक का दावा, ISRO मून लैंडर समस्या को सही कर लेगा

टिप्पणियां

इसके बाद पुलिस की जांच टीम ने घटनास्थल से सबूतों को इकट्ठा किया था. अधिकारी ने बताया था कि वे मामले की जांच के लिए अपार्टमेंट परिसर के सीसीटीवी फुटेज को चेक कर रहे हैं. बता दें कि सुरेश 20 साल से हैदराबाद में रह रहे थे. पहले उनकी पत्नी भी शहर में ही काम कर रही थीं, लेकिन 2005 में उनका तबादला चेन्नई हो गया. उनका बेटा अमेरिका में है, जबकि बेटी दिल्ली में रहती है.

VIDEO: Chandrayaan 2: ऑर्बिटर ने विक्रम लैंडर का पता लगाया



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement